जेएनएन, चंडीगढ़/नई दिल्‍ली। हरियाणा की राजनीति में अपने पैर जमाने की कोश्‍ािशों में लगे अाम आदमी पार्टी के सुप्रीमो व दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्‍कूल और अस्‍पतालाें को इसका जरिया बनाया है।  हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने केजरीवाल के हरियाणा के अस्‍पतालाें का दौरा करने पर दिल्‍ली के माेहल्‍ला क्लीनिक पर टिप्‍पणी की थी। उन्होंने इसे हल्‍ला क्लीनिक करार देते हुए केजरीवाल को इन पर ध्‍यान देने को कहा था। इसके बाद से दोनों मुख्‍यमंत्रियों के बीच सियासी जंग छिड़ गई है।

केजरीवाल ने ट्वीट कर मनोहरलाल से पूछा, कब आ रहे हैं दिल्ली

केजरीवाल ने मोहल्ला क्लीनिक देखने आने की चुनौती दी तो मनोहरलाल ने इसे स्वीकार कर लिया, लेकिन इससे दुविधा में फंस गए। केजरीवाल ने पहले पत्र लिखकर दिल्ली आने का न्यौता दिया और अब शुक्रवार को टवीट् के जरिये मनोहर लाल से पूछा है कि वह कब दिल्‍ली आएंगे।  केजरीवाल खुद 12 नवंबर को हरियाणा आ रहे हैैं। अरविंद केजरीवाल ने पिछले दिनों हरियाणा के स्कूलों का दौरा कर हरियाणा सरकार की कार्यप्रणाली पर बड़े सवाल खड़े किए थे। अब केजरीवाल के निशाने पर हरियाणा के सरकारी अस्पताल व डिस्पेंसरी हैैं। केजरीवाल हरियाणा की सभी लोकसभा और विधानसभा सीटों पर चुनाव लडऩे का ऐलान कर चुके हैैं

 केजरीवाल की मोहल्ला क्लीनिक देखने की चुनौती स्वीकार कर दुविधा में फंसे मनोहर

अरविंद केजरीवाल के हरियाणा दौरे के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक को हल्ला क्लीनिक करार दिया था। इसके बाद अरविंद केजरीवाल ने मनोहर लाल को दिल्ली में आकर मोहल्ला क्लीनिक देखने की चुनौती दी थी। इस चुनौती को मनोहर लाल ने सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान स्वीकार कर लिया था। इसके बाद लगातार राजनीतिक घटनाक्रम चल रहे हैं।

केजरीवाल ने मनोहर लाल को चुनौती दी थी कि वह दिल्ली में आकर अपनी मर्जी से किसी भी पांच मोहल्ला क्लीनिक का दौरा करें और वह हरियाणा में आकर अपनी मर्जी से पांच डिस्पेंसरी का दौरा करेंगे। मनोहर लाल द्वारा केजरीवाल के पत्र का कोई जवाब नहीं दिए जाने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने शुक्रवार की सुबह अपने पत्र को अटैच करते हुए टवीट् किया।

बता दें कि 27 अक्टूबर को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपनी सरकार के चार साल पूरे होने पर दिल्ली के हरियाणा भवन में उपलब्धियां बता रहे थे। इसी दौरान उन्होंने दिल्ली में चल रहे मोहल्ला क्लीनिक को हल्ला क्लीनिक कह दिया। इसके बाद 30 अक्टूबर को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हरियाणा गए तो उन्होंने मनोहर लाल को दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक देखने आने का न्‍यौता दिया। मनोहर लाल ने  इस चुनौती को स्वीकार कर लिया।

 इसके बाद अरविंद केजरीवाल ने और 2 नवंबर को पत्र लिखकर मनोहरलाल को दिल्‍ली आने के लिए आमंत्रित किया। केजरीवाल ने कहा कि मनोहरलाल पांच माेेहल्‍ला क्लीनिक देखें। इनमें से वह तीन का खुद चुनाव कर लें अोर दो केजरीवाल चुन कर उनका दौरा करवाएंगे। केजरीवाल ने पत्र में लिखा था कि वह भी हरियाणा की डिस्पेंसरी भी देखने आएंगे और दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक से उनकी तुलना करेंगे।

केजरीवाल के पत्र पर अभी तक मनोहर लाल का कोई जवाब नहीं आने पर केजरीवाल ने आज ट्वीट कर एक बार फिर मनोहरलाल को दिल्‍ली आने को कहा दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच चल रहे इस से मात के खेल में बेशक सियासी गंभीरता ना हो लेकिन इनको लेकर हरियाणा की चौपालो पर चर्चा जरूर शुरू हो गई है

केजरीवाल ने ट्वीट के जरिये कहा, आपका इंतजार रहेगा

अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में कहा है कि खट्टर साहब, आपके जवाब का इंतजार है। आप मोहल्ला क्लीनिक देखने के लिए कब आ रहे हैं? केजरीवाल ने कहा है कि 12 नवंबर आपके लिए ठीक है? मैं 12 तारीख को हरियाणा की डिस्पेंसरी देखने आऊं? मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केजरीवाल के इस ट्वीट पर फिलहाल चुप्पी साध ली है। 

'चुनौती पर खरा उतरकर दिखाएं मनोहर लाल'

'' मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आवेश में आकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुनौती को स्वीकार तो कर लिया लेकिन वह अब पछता रहे हैं।  हरियाणा में पिछले चार साल के दौरान अस्पतालों व डिस्पेंसरी की हालत लगातार खराब हो रही है। दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक जहां समूचे देश की सरकारों के लिए रोल मॉडल बने हैं। नार्वे के पूर्व प्रधानमंत्री तक ने इन मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ करते हुए पूरे देश में इनकी जरूरत बताई है। मनोहर लाल को इस चुनौती से पीछे नहीं हटना चाहिए।

                                                                                          - नवीन जयहिंद, अध्यक्ष, हरियाणा आप।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha