जेएनएन, चंडीगढ़। Coronavirus संक्रमण से सभी आशंकित हैं। हर कोई अपने घरों में रहना पसंद कर रहा है, लेकिन मेडिकल स्टाफ व इमरजेंसी सेवाओं में जुटे लोग सेवा में जुटे हैं। वहीं, कोरोना राहत कोष (Corona Relief Fund) में भी लोग मदद के हाथ बढ़ा रहे हैं। स्कूल लेक्चर 13 करोड़ रुपये देंगे। हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन (हसला) से जुड़े 26 हजार 133 स्कूल लेक्चरर्स ने अपने वेतन से पांच हजार रुपये देने की घोषणा की है।

हसला के राज्य प्रधान दयानंद दलाल ने बताया कि संगठन ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया है। आर्थिक मदद के अलावा स्कूल लेक्चरर कोरोना वायरस के खिलाफ जागरूकता अभियान में वालंटियर की भूमिका भी निभाएंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल और शिक्षा मंत्री कंवरपाल के साथ ही शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव और महानिदेशक को पत्र लिखकर कहा है कि संगठन हर तरह की मदद को तैयार है। महामारी से निपटने में जहां भी स्कूल लेक्चरर की जरूरत हो, सरकार उनकी सेवाएं ले सकती है।

कोरोना राहत कोष हाई कोर्ट के वकीलों ने की भागीदारी

हरियाणा के एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन ने अपने 1 महीने महीने का वेतन मुख्यमंत्री हरियाणा कोविद राहत कोष में देने का निर्णय लिया। महाजन ने अन्य लोगों व अपने स्टाफ से इस फंड में योगदान करने का आग्रह भी किया। चंडीगढ़ के सीनियर स्टैंडिंग काउंसल पंकज जैन ने भी अपनी ओर से पहल करते हुए शनिवार को प्रधान मंत्री राहत कोष में 50 हजार रूपये की राशि दान की है।

पंकज जैन के अलावा एडवोकेट विकास चतरथ और हरियाणा के एडिशनल एडवोकेट जनरल लोकेश सिंहल ने भी अपनी-अपनी ओर से 25-25 हजार रूपए प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दिया है इसके अलावा हाई कोर्ट के दस एडवोकेट्स सीनियर एडवोकेट अतुल लखनपाल, पुनीत जिंदल, शैलेंद्र जैन, हेमंत बस्सी, पीके मुटनेजा, परवीन गुप्ता, लोकेश सिंहल और विकास चतरथ ने गरीबों के लिए 50 हजार रुपये का राशन भी दिया है जिसे पुलिस विभाग की ओर से यह राशन गरीबों को वितरित किए जाने के लिए ले जाया गया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस