जेएनएन, चंडीगढ़। दिल्ली के सराय काले खां से पानीपत तक बनने वाले Regional Rapid Transit System (RRTS) Corridor को अब करनाल तक बढ़ाया जाएगा। साथ ही घरौंडा में एक स्टेशन भी बनेगा। इस Corridor के निर्माण में हरियाणा की हिस्सेदारी लगभग पांच हजार करोड़, यानी कुल लागत का 16 फीसद है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में SKK-Delhi Panipat Corridor of Regional Rapid Transit System के क्रियान्वन को लेकर हुई बैठक में लिया गया। परिवहन कार्यात्मक योजना एनसीआर-2032 के तहत RRTS के आठ Corridor का निर्माण किया जाना है। Regional Rapid Transit System के पहले चरण में तीन Corridor दिल्ली-मेरठ, दिल्ली-पानीपत और दिल्ली-एसएनबी का निर्माण किया जाएगा।

103 किलोमीटर लंबे दिल्ली-पानीपत Corridor में 17 RRTS स्टेशन (सराय काले खां सहित) होंगे। इस परियोजना के तहत पहले पानीपत नॉर्थ स्टेशन आखिरी स्टेशन था, लेकिन मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस Corridor का करनाल तक विस्तार किया जाए।

इन तीन RRTS Corridor का कुल मार्ग रेखा (अलाइनमेंट) 291.67 किलोमीटर है जिसमें से 50 प्रतिशत यानी 149.31 किलोमीटर से अधिक हरियाणा में पड़ता है। इसलिए इन Corridor के पूरा होने के बाद गुरुग्राम, रेवाड़ी, सोनीपत, पानीपत और करनाल के यात्रियों को फायदा होगा। इस Corridor का उद्देश्य दिल्ली को सोनीपत, गन्नौर, समालखा, पानीपत और करनाल से जोडऩा है। इस Corridor के बनने से न केवल यात्रा के समय में कटौती होगी, बल्कि पूरे क्षेत्र में पर्यावरण और आर्थिक लाभ भी होगा।

इंटरचेंज किए बिना जा सकेंगे दूसरे Corridor

RRTS स्टेशनों और ट्रेनों को अन्य परिवहन साधनों जैसे एयरपोर्ट, रेलवे, मेट्रो और आइएसबीटी के साथ समेकित रूप से एकीकृत किया जाएगा। RRTS स्टेशन इंटर-ऑपरेटेबल होंगे, जिससे यात्री ट्रेन को इंटरचेंज किए बिना एक Corridor से दूसरे Corridor तक यात्रा करने में सक्षम होंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस