चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा के यमुनानगर में हिंदू नेता की बेटी के साथ लव‍ जिहाद मामले में नया मोड़ आ गया है। यमुनानगर में हमीदा निवासी हिंदू नेता की बेटी से निकाह कर सोमवार को चंडीगढ़ पहुंचे मुस्लिम युवक से मारपीट कर कार सवार युवती को जबरन साथ ले गए। सड़क पर मारपीट की सूचना पर पहुंची पुलिस युवक  को अपने साथ थाने ले गई। युवक ने बताया कि वह एक युवती के साथ चंडीगढ़ आया था जिसे उसके परिजन जबरन गाड़ी में लेकर चले गए।

हाई कोर्ट पहुंचने से पहले चंडीगढ़ के सेक्टर-21 में हुई घटना, युवक का दावा-युवती को उसे परिजन ले गए

बता दें कि युवक-युवती निकाह के बाद पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में पुलिस प्रोटेक्शन मांगने सोमवार को चंडीगढ़ आए थे। सूत्रों के अनुसार सुबह 7.40 बजे एक राहगीर ने सेक्टर-21-22 की सड़क पर मारपीट होने की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में दी। मौके पर पहुंची पुलिस को वहां नबील नामक युवक मिला। पुलिस उसे सेक्टर-19 थाने ले गई। पुलिस को दिए बयान में नबील ने बताया कि वह यमुनानगर के वार्ड नंबर 13 खुड्डा कालोनी का रहने वाला है। वह एक युवती के साथ चंडीगढ़ घूमने आया था।

यह भी पढ़ें: ट्रेनों में कन्फर्म टिकट नहीं मिल रहा तो परेशान न हों, IRCTC की इस सुविधा का उठाएं लाभ

उसने बताया कि सुबह करीब 7.30 बजे जब वे सेक्टर-21 स्थित एक पार्क के पास पहुंचे तो हरियाणा नंबर की एक कार सामने आकर रुकी। कार से युवती के दो परिजन उतरे और उसे जबरन साथ ले जाने लगे। उसने विरोध किया तो परिजन उसे धक्का देकर युवती को जबरन लेकर चले गए। नबील ने पुलिस को लिखकर दिया कि वह इस मामले में कोई कानूनी कार्रवाई नहीं चाहता। सूत्रों के अनुसार युवक के पास किसी तरह का दस्तावेज नहीं बरामद हुआ है।

10 जून को हुई थी लापता, नबील पर कराया था अपहरण का केस

हिंदू नेता की बेटी 10 जून को लापता हो गई थी। इसके बाद वह एक भाजपा नेता को साथ में लेकर हमीदा पुलिस चौकी में पहुंचे। पुलिस की तरफ से कार्रवाई की जगह सिर्फ आश्वासन ही मिला। स्थानीय पुलिस से परेशान होकर अधिकारियों से संपंर्क करना पड़ा। बाद एडीजीपी आलोक राय टीम के साथ पहुंचे और नबील के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया गया। एफआइआर में नबील की बहन नाबिया व उनके दोस्तों परवेज और जावेद के नाम भी लिखवाए गए।

यह भी पढ़ें: एक सराहनीय पहल, कार्यकर्ता ने अपने गांव का दुखड़ा रोया तो सीएम ने उठाया ऐसा कदम

 युवती ने हाई कोर्ट से मांगी थी सुरक्षा

इसी बीच हाई कोर्ट में युवती की तरफ से पुलिस प्रोटेक्शन के लिए याचिका लगाई गई। उसने कोर्ट को बताया कि उसने धर्म परिवर्तन कर लिया है और नबील के साथ उसका निकाह 10 जून को पिंजौर में मौलाना शकील अहमद ने करवाया है। यह दस्तावेज भी हुमायैरा व नबील ने फोटो सहित दिए हैं। युवती ने अपने परिजनों को पार्टी बनाते हुए कहा कि एसपी यमुनानगर व एसएचओ उन्हें प्रताडि़त कर सकते हैं। उसने पिता व मां से भी खतरा जताया था। इसके बाद 17 जून की तारीख लगी थी।

-----

''एक वेंडर का फोन आया था। उसने बताया कि एक बुर्का पहने हुए लड़की किसी लड़के संग पैदल जा रही थी। लड़की को कार सवार चार-पांच लोग जबरन गाड़ी में बैठा ले गए। पुलिस ने वेंडर के बयानों के आधार पर केस दर्ज किया है।

                                                                                                          - चरणजीत सिंह विर्क, डीएसपी।

यह है मामला

बता दें कि यमुनानगर के हमीदा के एक हिंदू नेता की 19 वर्षीय लड़की को नबील नामक युवक ले गया था। हिंदू नेता ने इस संबंध में पुलिस में अपहरण का मामला दर्ज कराया था। लड़की के पिता ने शिकायत में कहा था कि नबील ईद के मौके पर कुवैत से यहां आया था और लड़की को अपने साथ ले गया। पहले पुलिस ने मामले में कार्रवाई करने में ढि़लाई बरती। बताया जाता है कि दिल्‍ली से फाेन आने के बाद पुलिस सक्रिय हुई। मामले की जांच के लिए एडीजीपी भी पहुंचे तो पुलिस मामले में गंभीर हुई।

परिजनों का कहना था लड़की के गायब होते ही रात को वे हमीदा चौकी पहुंचे, उन्‍होंने शिकायत की, लेकिन पुलिस ने त्वरित कार्रवाई नहीं की। परिजनों का कहना है कि शिकायत पर पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया। कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें घर भेज दिया, लेकिन ठोस एक्शन नहीं लिया गया। पुलिस की सुस्त कार्रवाई से नाराज कार्यकर्ता ने दिल्ली में राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के बड़े पदाधिकारियों व दिल्ली भाजपा के अध्‍यक्ष मनोज तिवारी से संपर्क साधा और आपबीती सुनाई। इसके बाद अंबाला रेंज के एडीजीपी आलोक राय, कुरुक्षेत्र एसपी आस्था मोदी और अंबाला की सीआएइ टीम व महिला थाना प्रभारी शीलावंती के साथ पहुंचे।

यह भी पढ़ें: हिंदू नेता की बेटी हो गई 'लव जिहाद' की शिकार, दिल्‍ली से फोन आया तो पुलिस हुई गंभीर


यह दी गई थी पुलिस को शिकायत
लड़की के पिता की ओर से पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, सोमवार की सुबह उनकी 19 वर्षीय बेटी को घर से घर से भगा ली गई है। जिस समय वह घर पर पहुंचे, तो बेटी घर पर नहीं थी। उसे बहुत तलाश करने पर पता चला कि नबील नामक युवक उसे अगवा कर ले गया है। इसमें नबील की मदद उसकी बहन नाबिया और उनके साथी परवेज, जावेद ने उसे इसमें मदद की। नाबिया एक  ब्यूटी पार्लर में कार्य करती थी और वहां की लड़कियां ने भी लड़की को भगाने में सहयोग किया। शिकायत में कहा गया है कि लड़की को बहला फुसलाकर ले जाया गया है और घर से सामान भी चोरी करवाया गया। इसमें  छह-सात तोले गहने व 50 हजार रुपये नकदी हैं। शक है कि नबील ने उनकी लड़की को अपने रिश्तेदारों व दोस्तों के आगे कही किसी गांव या दूसरे शहर में भेज दिया है। पुलिस ने मामले में भादसं की धारा 366, 120 बी, 379 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

कई लड़कियों को लव जिहाद का शिकार होने से बचाया था
आरएसएस के नेता ने बताया कि 1990 से बजरंग दल व संघ में जिम्मेदारी का निर्वाह कर रहा हूं। इस दौरान जब भी हिंदू की लड़की लव जेहाद का शिकार बनाने के लिए बहका कर ले जाया गया तो उन्होंने उसको लाने के लिए संघर्ष किया। कई दफा पुलिस की लाठियां खाईं। कई दफा जेल काटनी पड़ी। वर्ष 2014 में भी आंदोलन करते हुए पुलिस ने उनको गिरफ्तार किया था। पहले प्रताडि़त किया और बाद में जेल काटनी पड़ी थी।

यह भी पढ़ें: लव जिहाद केस में नया मोड़, हिंदू नेता की बेटी का धर्मांतरण के बाद किया निकाह, हाई कोर्ट में कही ऐसी बात

किताबों से मिला था एक पत्र
सूत्रों के मुताबिक लड़की जाने से पहले पत्र लिखकर गई है। परिजनों को उसकी किताब से ये पत्र मिया। इसमें लिखा गया है कि वह अपनी मर्जी से जा रही है। लेकिन इस पर परिजनों को यकीन नहीं हो रहा है। उनका कहना है कि उनकी बेटी ऐसा नहीं कर सकती है। हो सकता है कि साजिश के तहत ये पत्र घर पर रखा गया हो। पुलिस ने पत्र को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha