चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा सरकार अब गांवों में सड़कों का जाल बिछाने जा रही है। भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में साढ़े 10 हजार किलोमीटर नई सड़कें बनाने का खाका तैयार किया है। राज्य के विधायकों, सांसदों और राज्यसभा सदस्यों से नई सड़कें बनवाने के प्रस्ताव मांगे गए हैैं। ग्रामीण सड़क विकास परियाजना (एचआरआरडी) की उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में गांवों को सड़कों से जोड़ने का फैसला किया गया।

ग्रामीण सड़क विकास परियोजना की पांच साल बाद हुई बैठक में लिया गया फैसला

 

प्रदेश के 28 विधायकों ने अभी तक अपने प्रस्ताव सरकार को सौंप दिए हैैं। सभी 10 सांसदों ने नई सड़कों के बनने में विशेष रुचि दिखाई और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला को अपने प्रस्ताव भेज दिए। 20 जनवरी तक बाकी विधायकों से नई सड़कों के प्रस्ताव मांगे गए हैैं।

हरियाणा ग्रामीण सड़क विकास परियोजना के तहत यह प्रस्ताव मांगे गए हैैं। यह ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत आती है, जिसके मंत्री दुष्यंत चौटाला हैैं। करीब पांच साल के लंबे अंतराल के बाद मंगलवार को एचआरआरडी की बैठक हुई, जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाली सड़कों के प्रारूप, बजट, मांग और खर्च पर विस्तृत चर्चा की गई। अब से पहले कोई बैठक आयोजित नहीं होने के कारण सड़कों के निर्माण के प्रोजेक्ट भी नहीं आए थे।

बैठक के बाद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि उनके विभाग के अधिकारियों ने प्रत्येक विधायक और सांसद को व्यक्तिगत रूप से पत्र सौंपकर सड़क निर्माण के प्रस्ताव मांगे हैैं। यह सभी पत्र उनकी तरफ से भेजे गए थे। कुछ विधायकों के प्रस्ताव आ चुके तो कुछ के आने अभी बाकी हैैं। 20 जनवरी के बाद पता चल सकेगा कि गांवों में बनने वाली सड़कों का खर्च कितना होगा।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें: पंजाब के फिरोजपुर में फिर घुसा पाकिस्‍तानी ड्रोन, BSF जवानों ने की फायरिंग, सर्च ऑपरेशन जारी

 यह भी पढ़ें: Delhi Assembly Election में हरियाणवी तड़का, BJP और JJP में समझौते के बड़े संकेत

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस