मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। मंत्रिमंडल ने हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र 2 अगस्त से बुलाने का निर्णय लिया है। 3 व 4 अगस्त को अवकाश रहेगा। इसके बाद 5 व 6 अगस्त को विधानसभा सत्र की कार्यवाही चल सकती है। हालांकि सत्र की वास्तविक अवधि विधानसभा की बिजनेस एडवाइजरी कमेटी की बैठक में तय होगी।

इस दौरान राज्य सरकार करीब दो दर्जन बिल सदन में पेश कर उन्हें पास करना चाहती है। विधानसभा सचिवालय को इस बारे में तैयारी करने के लिए कह दिया गया है। विधानसभा चुनाव से पहले होने वाले इस सत्र में सरकार किसानों, व्यापारियों व कर्मचारियों के हित में कई अहम घोषणाएं कर सकती है।

प्रदेश की भाजपा सरकार के कार्यकाल का आखिरी मानसून सत्र पहले अगस्त के अंत में बुलाया जाना था। मगर इस अवधि में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खासे व्यस्त हैं। गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज लंदन में अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव का आयोजन कर रहे हैं, जो 7 से 12 अगस्त तक चलेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी इस महोत्सव में शामिल होंगे। इसके बाद 16 अगस्त से मुख्यमंत्री चुनाव के मद्देनजर रथ पर सवार होकर प्रदेश के दौरे पर निकल जाएंगे।

मुख्यमंत्री का रथ राज्य में लगातार 20 दिन घूमेगा। 8 सितंबर को राज्यस्तरीय रैली होगी। वहीं राज्य में 10 से 12 सितंबर के बीच किसी भी समय चुनाव आचार संहिता लग सकती है और 15 अक्टूबर के आसपास चुनाव हो सकते हैं। लिहाजा सरकार मानसून सत्र से पहले ही फारिग हो लेना चाहती है।

हरियाणा की पहली और देश की तीसरी खेल यूनिवर्सिटी राई में

हरियाणा सरकार की करीब तीन साल पहले की खेल विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा पर आज मंत्रिमंडल ने अपनी मुहर लगा दी। सोनीपत जिले के राई में राज्य का पहला और देश का तीसरा खेल विश्वविद्यालय बनेगा। यहां हर खेल के लिए सेंटर फार एक्सीलेंस होगा, जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी और कोच तैयार हो सकेंगे। अभी तक खिलाडिय़ों को एनआइएस सर्टिफिकेट अथवा कोर्स करने के लिए दूसरे प्रदेशों में जाना पड़ता था, मगर अब यहां खिलाड़ी व कोच के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय मानक के अंपायर भी तैयार होंगे।

सीधे होंगे नगर पालिका व परिषद अध्यक्षों के चुनाव

हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में नगर निगमों के मेयर की तरह अब नगर परिषदों और नगर पालिकाओं के अध्यक्ष का चुनाव भी सीधे मतदान के जरिये कराने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी गई है। कैबिनेट ने तय किया है कि छह महीने में एक बार कम से कम तीन दिन का सत्र बुलाना अनिवार्य किया गया है।

सोनीपत नगर निगम के चुनाव अगली सरकार के गठन के बाद

हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में सोनीपत नगर निगम के चुनाव अगले एक साल में कराने के प्रस्ताव को भी मंजूरी प्रदान की गई। इसके लिए अध्यादेश के माध्यम से हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 4 (4) के प्रावधान में संशोधन को स्वीकृति प्रदान की गई। इसके तहत नगर निगम गठित होने के पांच साल के भीतर चुनाव कराए जा सकेंगे। अभी तक यह समय सीमा चार साल थी। सोनीपत नगर निगम के लिए यह सीमा पूरी हो चुकी है। अब अगली सरकार के गठन के बाद ही सोनीपत नगर निगम के चुनाव होंगे।

एचसीएस बनने को एक पेपर हुआ कम, यूपीएससी की तर्ज पर परीक्षा

हरियाणा में एचसीएस (हरियाणा सिविल सेवा) अफसर बनने के लिए युवाओं को अब मुख्य परीक्षा में एक पेपर कम देना होगा। एचसीएस (कार्यकारी शाखा) की परीक्षा में जहां अभी तक पांच पेपर देने होते थे, वहीं अब परीक्षार्थियों को सिर्फ चार पेपर देने पड़ेंगे। तीन अनिवार्य विषयों के साथ आवेदकों को 23 वैकल्पिक विषयों में से कोई एक पेपर चुनना पड़ेगा। अभी तक युवाओं को तीन अनिवार्य और दो वैकल्पिक विषयों के साथ कुल पांच पेपर देने होते थे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप