जासं, पंचकूला : कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग हरियाणा की ओर से श्रीमाता मनसा देवी श्राइन बोर्ड के सहयोग से मंदिर परिसर में15 दिवसीय मूर्तिकला शिविर आयोजित हुआ। शिविर का उद्घाटन मंगलवार को उपायुक्त एवं बोर्ड के मुख्य प्रशासक मुकेश कुमार आहूजा ने पूजा अर्चना के साथ किया। कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग के महानिदेशक महेश्वर शर्मा और श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एमएस यादव ने भी पूजा अर्चना कर मूर्तिकारों को शुभकामनाएं दी।

आहूजा ने कहा कि मूर्तिकला न केवल एक प्रतिभा है, बल्कि इस कला के माध्यम से वर्तमान और प्राचीन संस्कृति को हजारों वर्ष तक भावी पीढि़यों तक पहुंचाया जा सकता है। देश व प्रदेश की प्राचीन संस्कृतियों की खोज खुदाई के दौरान मिली उस समय की मूर्तियों से हुई है। मूर्तियों के निर्माण के लिए राजस्थान से मंगवाएं गए पत्थर

महेश्वर शर्मा ने कहा कि इस 15 दिन के शिविर में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के 16 मूर्तिकार मूर्तिकला की अलग-अलग विधाओं पर आधारित मूर्तियों का निर्माण करेंगे। यह कलाकार 20 मूर्तियां बनाएंगे। यह कार्य विभाग के कला अधिकारी एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के मूर्तिकार ह्रदय कौशल की देखरेख में किया जा रहा है। प्रत्येक मूर्ति एक बड़े पत्थर से बिना किसी जोड़ के तैयार की जाएगी और यहां पत्थर भी कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग द्वारा विशेष रूप से राजस्थान से मंगवाया गया है। तैयार मूर्तियां स्थायी तौर पर मंदिर में की जाएंगी स्थापित

तैयार की गई मूर्तियां स्थायी तौर पर मंदिर परिसर में ही स्थापित रहेंगी। शिविर के मेंटर व समन्वयक ह्रदय कौशल ने बताया कि शिविर में 10 मूर्तिकार दिनेश कुमार, संजीव कुमार, अमित कुमार, कुलदीप कुमार, अनुप, स्वीप, सुनील, रेणुका गुलाटी, तुलसी और शैलेंद्र हरियाणा से हैं। उपायुक्त ने इन सभी कलाकारों को टूल किट भी प्रदान की। शिविर में पहुंचे यह मूर्तिकार

शिविर ने तेलंगाना से डॉ. स्नेह लता प्रसाद, उदयपुर से राकेश कुमार महाराष्ट्र से पी.जोगदान, चंडीगढ़ से विशाल और बड़ौदा से संगम नामक मूर्तिकार इस शिविर में भाग ले रहे हैं। इस मौके पर श्रीमाता मनसा देवी श्राइन बोर्ड के सचिव व सदस्य तथा कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग हरियाणा के अधिकारी भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप