चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा की मनोहरलाल सरकार अब लोकसभा चुनाव के मद्देनजर किसानों और युवाओं को लुभाने में जुट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्‍य में कई बड़े प्रोजेक्ट का शिलान्यास और लोकार्पण कराने के बाद बुधवार को कैबिनेट में कई अहम फैसले लिए। इन फैसलों में युवाओं और किसानों को साधने की कोशिश की गई है।

मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की अध्‍यक्षता में बुधवार को हरियाण कैबिनेट की बैठक हुई। इसमें कई महत्‍वपूर्ण फैसले किए गए। विधानसभा के बजट सत्र से पहले सरकार द्वारा किए गए ये फैसले कई संकेत देेते हैं। कैबिनेट की बैठक में राई के स्पोट्र्स सेंटर को स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी के रूप में विकसित करने का फैसला किया गया। कैबिनेट ने फैसला किया कि सोनीपत में इस स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी की स्थापना जल्‍द ही होगी।

सरकार ने युवा आयोग बनाने का भी फैसला लिया है। यह आयोग 15 से 29 साल तक के युवाओं के कल्याण के लिए काम करेगा। युवा आयोग के जरिए सरकार हरियाणा की युवा पीढ़ी को अपनी नीतियों से खुश करने की कोशिश कर सकती है।

प्रदेश सरकार ने अनुसूचित आयोग के चेयरमैन और सदस्यों के चयन को लेकर नियमों में बदलाव किया है। किसानों को साधने के लिए हरियाणा सरकार ने एनसीआर में 10 साल से ज्यादा पुराने ट्रैक्टर व कंबाइन चलाए जाने में भी किसानों को रियायत देने का फैसला लिया है। एनजीटी ने एनसीआर में 10 साल से ज्यादा पुराने वाहनों के परिचालन पर रोक लगा रखी है। ऐसे में सरकार ने कृषि के क्षेत्र में काम आने वाले ट्रैक्टर और कंबाइन को इस नियम से छूट देने का फैसला लिया है।

हरियाणा सरकार ने अपनी टैक्सटाइल पॉलिसी में भी बदलाव किया है। इसके तहत टैक्सटाइल से जुड़े उद्योग लगाने में नियमों में ढील दी गई है। सरकार कपास उत्पादक क्षेत्रों में खासतौर पर टैक्सटाइल इंडस्ट्री को बढ़ावा देने की कवायद पर काम कर रही है। बैठक में हरियाणा सौर ऊर्जा पॉलिसी को भी मंजूरी दी गई। रीजनल रेपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। इसके तहत बनने वाले रोड से 100 किलोमीटर एरिया में हरियाणा की कनेक्टिविटी बेहतर होगी।

Posted By: Sunil Kumar Jha