अनुराग अग्रवाल, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कैबिनेट में आज कमल गुप्ता व देवेंद्र बबली मंत्री के रूप में शामिल हो गए हैं। मनोहर लाल ने अपनै कैबिनेट के पुराने साथियों को न तो हटाया और न ही बदला है। ऐसा करने से तमाम अटकलें खत्म हो गई और राज्य मंत्री ओप्रकाश यादव व कमलेश ढांडा के सिर पर लटकी तलवार हट गई। उम्मीद के मुताबिक खेल राज्य मंत्री संदीप सिंह को कैबिनेट मंत्री का दर्जा नहीं मिल पाया। गृह मंत्री अनिल विज के गृह विभाग से भी किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई।

एक प्रेस कान्फ्रेंस में मंत्रियों को बदले जाने से जुड़े सवाल पर मुख्यमंत्री ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि किसी भी कैबिनेट में सबकी सामूहिक जिम्मेदारी होती है। जिस तरह क्रिकेट टीम में सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन को एक टीम के प्रदर्शन के रूप में आका जाता है, उसी तरह वह अपने मंत्रिमंडल की टीम के कार्यों तथा प्रदर्शन से संतुष्ट हैं। हालांकि मुख्यमंत्री की इस राय के राजनीतिक मतलब हैं, लेकिन माना जा रहा है कि चार मंत्रियों का कामकाज संतोषजनक नहीं है, जिन्हें अप्रैल में संभावित बदलाव के दौरान वापस भेजा जा सकता है।

भाजपा ने दूर की वैश्यों की नाराजगी

नए मंत्रियों में कमल गुप्ता को जिम्मेदारी सौंपकर मुख्यमंत्री ने वैश्य समुदाय के लोगों का भरोसा जीतने की कोशिश की है। राज्य में भाजपा के आठ विधायक वैश्य समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। इस समुदाय का कोई मंत्री नहीं होने के कारण वैश्य समुदाय में नाराजगी बढ़ रही थी। कमल गुप्ता के साथ-साथ स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता, विधायक नरेंद्र गुप्ता, सुधीर सिंगला, असीम गोयल और दीपक मंगला के नाम भी चर्चा में थे, लेकिन कमल गुप्ता की किस्मत का कमल खिला है।

जजपा ने जाटों को अपने साथ जोड़ा

किसान संगठनों के आंदोलन की वजह से जननायक जनता पार्टी से एक खास वर्ग नाराज था। उसे मनाने की उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बार-बार कोशिश की, लेकिन मंत्रिमंडल में देवेंद्र बबली को प्रतिनिधित्व देकर जाटों व किसानों को खुश करने की कोशिश की गई है। हालांकि जजपा कोटे से मंत्री बनने के तलबगार ईश्वर सिंह और रामकुमार गौतम के साथ अमरजीत ढांडा में अपने पार्टी नेतृत्व के प्रति नाराजगी बढ़ सकती है, लेकिन बबली उन्हें मनाने में कामयाब हो सकते हैं।

मनोहर मंत्रिमंडल में नौ हुई कैबिनेट मंत्रियों की संख्या

डा. कमल गुप्ता और देवेंद्र सहरावत बबली को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्रियों की संख्या नौ हो गई है। पहले से कैबिनेट मंत्रियों में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, गृह मंत्री अनिल विज, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, संसदीय कार्य व शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर, बिजली मंत्री रणजीत चौटाला, कृषि मंत्री जेपी दलाल और सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल शामिल हैं। मंत्रिमंडल में चार राज्य मंत्री हैं, जिनमें खेल राज्य मंत्री संदीप सिंह, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा और पुरातत्व एवं संग्रहालय राज्य मंत्री अनूप धानक। चारों राज्य मंत्रियों के पास स्वतंत्र प्रभार है।

Edited By: Kamlesh Bhatt