जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा में अब पंचायत प्रतिनिधियों की तर्ज पर नगर निगमों के मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के अलावा नगर परिषद व नगर पालिकाओं के प्रधान को भी पेंशन मिलेगी। बीते 25 सालों के दौरान स्थानीय निकायों में जिम्मेदारी निभा चुके पूर्व मेयर को चार हजार, सीनियर डिप्टी मेयर को तीन हजार, डिप्टी मेयर व नगर परिषद प्रधान को दो हजार तथा नगर पालिका प्रधान को 1500 रुपये पेंशन मिलेगी।

मौजूदा समय में 14 पूर्व मेयर, 14 पूर्व वरिष्ठ उप मेयर, 14 पूर्व उप मेयर, नगर परिषद के पूर्व 126 प्रधानों एवं नगर पालिका के 172 प्रधानों को पेंशन का लाभ मिलेगा। इससे पहले जिला परिषदों के पूर्व चेयरमैन को दो हजार व डिप्टी चेयरमैन को एक हजार, पंचायत समिति के पूर्व चेयरमैनों को 1500 तथा पूर्व डिप्टी चेयरमैन को 750 तथा पूर्व सरपंचों को एक हजार रुपये की पेंशन शुरू की जा चुकी। प्रदेश में कुल 25 हजार 336 पूर्व सरपंचों, जिला परिषदों के अध्यक्षों व उपाध्यक्षों और पंचायत समिति के अध्यक्षों एवं उपाध्यक्षों को पेंशन का लाभ मिलेगा।

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि पंचायती राज संस्थाओं की तर्ज पर बीती पांच योजनाओं में स्थानीय निकायों में प्रधान और उप प्रधान रहे लोगों को हर महीने पेंशन दी जाएगी। हरियाणा दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा शहर की सरकार के लिए की गई घोषणा को अमलीजामा पहना दिया गया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण-शहरी विकास में बेहतर समन्वय एवं शानदार योजनाएं फलीभूत हों, इसके लिए अंतर जिला परिषद का गठन जैसे प्रयास सराहनीय हैं।

मंत्री कविता जैन ने कहा कि पिछले साल पानीपत में हरियाणा दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निकाय संस्थाओं के मुखिया को पेंशन देने की घोषणा की थी। अब शहरी स्थानीय निकाय द्वारा तैयार इस प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मुहर लगा दी है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt