जेएनएन, चंडीगढ़। कॉमनवेल्थ खेलों की पदक विजेता भारतीय महिला पहलवान बबीता फौगाट का कहना है कि मोदी सरकार द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने से उनका मन बदला और उन्होंने भाजपा में शामिल होकर जन सेवा करने का फैसला लिया। उनकी अंतर आत्मा से आवाज आई कि भाजपा के हाथों में ही देश सुरक्षित है।

चंडीगढ़ में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए बबीता फौगाट ने कहा कि अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर देश में पिछले लंबे समय से राजनीति हो रही थी। इसके दम पर कई राजनीतिक दलों ने खुद को जिंदा रखा हुआ था। चुनाव के समय में धारा 370 हटाने की बातें तो होती थी, लेकिन बाद में कुछ नहीं होता था।

बबीता फौगाट के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मुद्दे पर राजनीति करने के बजाय कश्मीरवासियों के हित में बड़ा फैसला लेते हुए अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया। यही मेरे लिए राजनीति में आने का टर्निंग प्वाइंट था। विधानसभा चुनाव लडऩे से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि खेल हो या राजनीति, उनके लिए हमेशा राष्ट्रहित सर्वोपरि रहे और रहेंगे।

बबीता फौगाट ने माना कि पुलिस विभाग की नौकरी करते समय वह सक्रिय राजनीति नहीं कर सकती थी। उन्हें राजनीति जनसेवा का अच्छा माध्यम लगा, इसलिए उन्होंने पुलिस की नौकरी से इस्तीफा देने का फैसला किया है। उनका परिवार इस फैसले से सहमत है।

बबीता के पिता एवं कोच पहलवान महावीर फौगाट ने कहा कि वह शुरू से ही राजनीति में सक्रिय होना चाहते थे, जिसकी शुरूआत उन्होंने वर्ष 1991 से कर दी थी। भविष्य में पार्टी जो निर्देश देगी, उसका अनुपालन किया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप