पंचकूला [राजेश मलकानियां]। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की राजदार हनीप्रीत अब पंचकूला पुलिस की गिरफ्त में है। हनीप्रीत को गिरफ्तार करके चंडीमंदिर थाने में रखा गया है। हनीप्रीत से लगातार पूछताछ जारी है। लगभग 50 ऐसे अहम सवाल हैं जिनका जवाब पंचकूला पुलिस हनीप्रीत से लेना चाहती है। पुलिस ने सवालों की पूरी लिस्ट तैयार कर रखी है। जिस तरह हनीप्रीत के जवाब मिलेंगे, उसी प्रकार पुलिस की कार्रवाई आगे बढ़ेगी।

हनीप्रीत से पुलिस 25 अगस्त से लेकर 3 अक्टूबर तक के एक-एक दिन का हिसाब लेने में जुटी हुई है। पुलिस के सामने हनीप्रीत लगातार खुद और गुरमीत राम को बेकसूर बताने में लगी हुई है। हरियाणा पुलिस की वरिष्ठ महिला अफसर हनीप्रीत से सवाल पूछ रहीं हैं लेकिन हनीप्रीत केवल एक ही रट लगा रही है कि मैं कुछ नहीं जानती। पुलिस की सख्ती के आगे भी हनीप्रीत डर नहीं रही है।

यह भी पढ़ेंः हनीप्रीत की गिरफ्तारी का श्रेय लेने में उलझे पंजाब-हरियाणा

सीपी ने हनीप्रीत से पूछे कुछ सवाल

हनीप्रीत की गिरफ्तारी के बाद पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला, डीसीपी मनबीर सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारी चंडीमंदिर थाने पहुंचे। एएस चावला ने हनीप्रीत से कुछ सवाल पूछे हैं लेकिन कोई संतोषजनक जवाब हनीप्रीत द्वारा नहीं दिया गया।

पुलिस को चाहिए इनका जवाब

1. 25 अगस्त को पंचकूला में दंगे और आगजनी के लिए साजिश में उसके अलावा ओर कितने लोग शामिल थे।
2. दंगों के लिए कितना पैसा मुहैया करवाया गया।
3. यह पैसा किसके जरिए कहां-कहां पर बंटवाया गया।
4. 25 अगस्त को वह कहां रुकी और उसके बाद 38 दिनों तक उसे किसने और कहां पर संरक्षण दिया।
5. न्यूज चैनल के संवाददाता तक वह कैसे और किसके जरिए पहुंची।
6. डेरा प्रमुख के काफिले में कौन से एनआरआइ थे।
7. काफिले में आई गाडिय़ों में आगजनी के लिए सामान के बारे में उसे जानकारी थी तो उसने किसी को क्यों नहीं बताया?
8. डेरे से संबंधित विभिन्न गतिविधियों पर पूछताछ की जाएगी।
9. कंकालों के बारे में जानकारी जुटाएंगे।
10. साधुओं को नपुंसक बनाने के बारे में पूछताछ की जाएगी।
11. सबूतों के आधार पर कई सवाल पूछे जा रहे हैं।
12. साथ ही उसके मोबाइल एवं सामान के गायब होने के बाद पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने कहा, हनीप्रीत का इंटरव्यू व गिरफ्तारी सुनियोजित ड्रामा



एक ही जवाब : बेकसूर हूं

ऐसे कई सवाल पुलिस द्वारा हनीप्रीत से किए जा रहे हैं लेकिन वह एक ही रटारटाया जवाब दे रही है कि मैं बेकसूर हूं।

साजिश रचने का आरोप

दंगा भड़काने की साजिश रचने का आरोप हनीप्रीत पर है। हालांकि हनीप्रीत 25 अगस्त को कोर्ट परिसर में राम रहीम के साथ थी लेकिन पुलिस रिमांड के दौरान विभिन्न आरोपियों ने खुलासा किया था कि हनीप्रीत के कहने पर ही उन्होंने पंचकूला में आगजनी एवं दंगे किए थे। हनीप्रीत से रिमांड के दौरान यदि कोई और लीड पुलिस को मिली, तो उस हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

10 दिन रिमांड पर ले सकती है पुलिस

पंचकूला पुलिस हनीप्रीत को कम से कम 10 से 12 दिन के पुलिस रिमांड  पर कोर्ट से ले सकती है। पुलिस को हनीप्रीत जिस तरह से चकमा देकर चंडीगढ़ से पटियाला के माध्यम से फिर भागने की फिराक में थी, ऐसे में हनीप्रीत की रिमांड के दौरान मुश्किलें बढऩे की संभावना है।

यह भी पढ़ेंः हनीप्रीत चंडीगढ़ के पास जीरकपुर में पकड़ी गई, पूछताछ में कई खुलासे

देर रात चंडीगढ़ पहुंची थी हनीप्रीत

पुलिस के अनुसार हनीप्रीत सोमवार देर रात चंडीगढ़ पहुंची थी। यहां पर वह डेरे के एक पुराने अनुयायी के घर पर कुछ देर रुकी। इसके बाद उसने न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया। पुलिस को हनीप्रीत के बारे में देर रात जानकारी मिली तो उन्होंने चंडीगढ़ में सर्च के लिए टीमें रवाना कर दी। परंतु उससे पहले ही हनीप्रीत निकल चुकी थी। पुलिस ने प्रयास शुरू कर दिए कि यदि हनीप्रीत चंडीगढ़ आने के बाद फिर से फरार हो गई तो उसकी फजीहत हो जाएगी। इसलिए लगातार रेड टीमें सक्रिया रहीं और मंगलवार को जब हनीप्रीत पटियाला भाग रही थी तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

आदित्य इंसा दूसरा टारगेट

हनीप्रीत की गिरफ्तारी के बाद अब दूसरा टारगेट डॉ. आदित्य इंसा हैं। डॉ. डेरे का प्रवक्ता है और 25 अगस्त को वह राम रहीम के साथ पंचकूला आया था। उसने ही डेरा समर्थकों के बीच पहुंचकर अपने खास लोगों से कहकर राम रहीम का मैसेज फ्लैश किया था जिसके बाद पंचकूला में आगजनी को अंजाम दिया गया था।

राम रहीम के साथ बैठी थी हनीप्रीत

25 अगस्त को राम रहीम जिस गाड़ी में आया था, उसी गाड़ी में हनीप्रीत बैठी थी। उस गाड़ी में दो अन्य लोग भी थे, उनके बारे में भी हनीप्रीत से पूछताछ की जाएगी।

यह भी पढ़ेंः हनीप्रीत को यहां-वहां ढूंढती रही पंचकूला पुलिस और मिली पड़ोस में

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt