राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा शिक्षक पात्रता परीक्षा (एचटेट) फुलप्रूफ होगी। भिवानी में हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के मुख्यालय में हाईटेक कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है, जहां से प्रदेश के सभी परीक्षा केंद्रों की निगरानी होगी। प्रवेश द्वार पर ही अभ्यर्थियों की लाइव मानिटरिंग की जाएगी। अनुचित साधनों का प्रयोग करने वाले अभ्यर्थी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

एचटेट की तैयारियों को लेकर मंगलवार को मुख्य सचिव संजीव कौशल ने स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. वीपी यादव, स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. महावीर सिंह, सूचना, जनसंपर्क और भाषा विभाग के महानिदेशक डा. अमित कुमार अग्रवाल, स्कूल शिक्षा बोर्ड के सचिव कृष्ण कुमार और परिवहन विभाग के प्रधान सचिव नवदीप सिंह विर्क के साथ बैठक की।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग से जुड़े सभी उपायुक्तों को परीक्षा केंद्रों के आसपास धारा 144 लगाने के निर्देश दिए गए हैं। दृष्टिहीन परीक्षार्थियों को प्रश्नपत्र हल करने के लिए 50 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा। उनके लिए केंद्र अधीक्षक द्वारा एक अलग लिफाफे में ओएमआर शीट भेजी जाएगी। बैठने की व्यवस्था भी अलग होगी।

1046 केंद्रों पर तीन लाख से अधिक परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

तीन और चार दिसंबर को 1046 केंद्रों पर होने वाली परीक्षा में कुल तीन लाख पांच हजार 717 अभ्यर्थी शामिल होंगे। शनिवार को लेवल-3 (पीजीटी) की परीक्षा दोपहर तीन से शाम साढ़े पांच बजे तक होगी। पहले दिन 327 परीक्षा केंद्रों पर 60 हजार 794 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

रविवार को 504 परीक्षा केंद्रों पर सुबह 10 से दोपहर साढ़े बारह बजे तक होने वाली लेवल-2 (टीजीटी) की परीक्षा में एक लाख 49 हजार 430 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। इसके बाद दोपहर तीन से शाम साढ़े पांच बजे तक 215 परीक्षा केंद्रों पर लेवल-1 (पीआरटी) की परीक्षा होगी जिसमें 95 हजार 493 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे।

परीक्षा से तीन घंटे पहले पुलिस कर्मचारी संभाल लेंगे मोर्चा

परीक्षा के सीलबंद प्रश्न पत्र के बक्से सभी जिला ट्रेजरी कार्यालयों से उपायुक्त अथवा उपायुक्त द्वारा नियुक्त प्रशासनिक अधिकारी की देखरेख में संयुक्त टीम के माध्यम से दो-दो पुलिसकर्मियों की अभिरक्षा में सीधे परीक्षा केंद्रों पर भिजवाए जाएंगे। परीक्षा केंद्रों पर बाहरी हस्तक्षेप को रोकने के लिए परीक्षा शुरू होने से तीन घंटे पहले पर्याप्त पुलिस व्यवस्था की जाएगी। परीक्षा के दौरान आसपास की फोटोस्टेट की दुकानें बंद रहेंगी। परीक्षा केंद्रों के अंदर मीडिया का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

परीक्षा से दो घंटे 10 मिनट पहले शुरू होगा प्रवेश

परीक्षा शुरू होने से दो घंटे 10 मिनट पहले परीक्षार्थियों काे प्रवेश दिया जाएगा। मेटल डिटेक्टर से तलाशी के साथ ही बायोमीट्रिक उपस्थिति दर्ज की जाएगी। परीक्षा शुरू होने के एक घंटे पहले परीक्षा केंद्र में प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। नकल रोकने के लिए 172 उड़नदस्ते नियुक्त किए गए हैं। इसके अलावा प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर जिला प्रशासन के एक अधिकारी और शिक्षा बोर्ड के एक अधिकारी-कर्मचारी को प्रतिनिधि के रूप में पूर्णकालिक पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है।

Edited By: Kamlesh Bhatt

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट