बिजेंद्र बंसल, नई दिल्ली। दिल्ली और हिसार के बीच सुपर फास्ट रेलगाड़ियां चलेंगी। इसके लिए रेल मंत्रालय इस रूट पर ऊपरगामी (एलीवेटिड) रेल लाइन बिछवाएगा। दिल्ली-हिसार के बीच सुपर फास्ट रेलगाड़ियां चलाने के पीछे रेल मंत्रालय का लक्ष्य यह है कि हिसार में बन रहे महाराजा अग्रसेन एयरपोर्ट को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट का फीडर एयरपोर्ट बना दिया जाए।

हरियाणा की रेल परियोजनाओं को लेकर सोमवार दोपहर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से हरियाणा भवन में मुलाकात की। इसमें राज्य की सभी परियोजनाओं को पूरा करने और उनमें विकास की नई संभावनाओं को जोड़ते हुए रेल मंत्री ने बताया कि सभी योजनाएं तय समय में पूरा होंगी।

बता दें, फिलहाल दिल्ली-हिसार के बीच 180 किलोमीटर की दूरी सामान्य रेल से चार घंटे में तय होती है। एलीवेटिड रेल लाइन से यह दूरी महज पौने दो घंटे में तय की जा सकेगी। इसका फायदा यह होगा कि दिल्ली इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर यदि ज्यादा एयर ट्रैफिक होगा तो कुछ एयर ट्रैफिक हिसार एयरपोर्ट पर डायवर्ट किया जा सकेगा। इससे हिसार एयरपोर्ट काे भी एविएशन हब के रूप में विकसित किया जा सकेगा।

रेल मंत्री के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य से गुजरने वाले ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर व वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर पर 10 रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे। इससे नए रेलवे स्टेशन के शहर,कस्बे, गांव और आसपास के क्षेत्रों के विकास को गति मिलेगी। इन क्षेत्रों में औद्योगिक, वाणिज्यिक व रिहायशी क्षेत्रों का भी विकास होगा।

इन परियोजनाओं को भी मिलेगी गति

  • रोहतक रेलवे लाइन के नीचे रेलवे की खाली जगह पर एक नई सड़क बनाने पर सहमति बनी।
  • कुरुक्षेत्र की तरह कैथल में एलीवेटिड रेलवे लाइन बनाई जाएगी। इसका काम तेजी से हो, इसके लिए रेल मंत्री ने अधिकारियों को दिए निर्देश।
  • पलवल व पृथला में वेस्टर्न रेल फ्रेट कारिडोर के लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य शीघ्र शुरू होगा ताकि ईस्टर्न रेल फ्रेट कारिडोर पृथला व फरीदाबाद इंडस्ट्रियल हब के लिए उपयोगी हो सके।
  • केएमपी के साथ रेल आर्बिटल कारिडोर के निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य पूरा हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इसके शिलान्यास के लिए समय मांगा जा रहा है।

रेल मंत्री ने दिया डबल इंजन पर जोर

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का कहना है कि केंद्र और राज्य में समान विचारधारा की सरकार बनाने से राज्य की जनता को विकास परियोजनाओं में सीधा लाभ मिलता है। हरियाणा भवन में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ राज्य में लंबित और नई रेल परियोजनाओं को लेकर हुई लंबी बैठक के बाद रेल मंत्री ने कहा कि हरियाणा की सभी रेल परियोजनाओं को उन्होंने समयबद्ध पूरा करवाने के लिए तारीखों सहित लक्ष्य तय कर दिए हैं। इन परियोजनाओं के पूरा होने के बाद राज्य की रेल कनेक्टिविटी दिल्ली सहित एनसीआर में सबसे बेहतर होगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा की जनता को डबल इंजन सरकार बनाने का फायदा तो मिलता ही रहेगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी रेल मंत्री का आभार जताते हुए बताया कि रेल मंत्रालय दिल्ली-हिसार रूट पर नई रेल लाइन एलीवेटिड बनाना चाहता है। इसके पीछे यह उद्देश्य है कि दिल्ली से हिसार रूट पर सुपर फास्ट रेलगाड़ियां चलें, जो कम समय में दोनों शहरों की दूरी तय करें। इससे हिसार में बन रहे महाराजा अग्रसेन एयरपोर्ट को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के फीडर एयरपोर्ट के रूप में इस्तेमाल किया जा सके। इससे हरियाणा की अर्थव्यवस्था में भी सुधार आएगा।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने के साथ ही रेल मंत्री के इस बयान को काफी अहम माना जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित भाजपा के स्टार प्रचारक इन राज्यों में स्थानीय मुद्दों के अलावा जनता के समक्ष डबल इंजन की सरकार बनाने पर जोर दे रहे हैं।

रेल मंत्री खुद ही पहुंच हरियाणा भवन

हरियाणा की रेल परियोजनाओं को लेकर पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल का रेल मंत्री से रेल मंत्रालय में मिलने का कार्यक्रम था, मगर बैठक से दो घंटे पहले इसमें बदलाव कर दिया गया। बताया जा रहा है कि रेल मंत्री ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को सूचित किया कि वे हरियाणा को रेल परियोजनाओं की सौगात हरियाणा भवन में ही आकर देना चाहते हैं, ताकि राज्य की जनता में डबल इंजन की सरकार बनाने के फायदे का सीधा संदेश पहुंचे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी रेल मंत्री की इस सादगी भरे अंदाज की प्रशंसा करते हुए बैठक की व्यवस्था हरियाणा भवन में कराने के आदेश दिए। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव अपने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के निश्चित समय दोपहर 12.30 बजे से दस मिनट पहले ही हरियाणा भवन पहुंच गए।

Edited By: Kamlesh Bhatt