जेएनएन, चंडीगढ़। उत्तर भारत के सात राज्यों को नशे के खिलाफ एकजुट करने में हरियाणा कामयाब हो गया है।  ड्रग के नशे पर काबू पाने के लिए अब यह सातों राज्य मिलकर लड़ाई लड़ेंगे। नशे के खिलाफ मुद्दे पर हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, चंडीगढ़ और नई दिल्ली के नेताओं एवं आला अफसरों की अहम बैठक सोमवार को चंडीगढ़ में होगी।

हरियाणा सरकार इस बैठक की मेजबान होगी और बैठक चंडीगढ़ स्थित हरियाणा निवास में होगी। सीएम के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने इन सातों राज्यों की होने वाली बैठक की पुष्टि की है।  पंजाब के सीएम कैप्टेन अमरेंद्र सिंह ने पिछले दिनों नशे के खिलाफ मुहिम चलाने और इस बुराई से निजात पाने के लिए सहयोग के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र लिखा था।

नशे के खिलाफ लड़ी जाने वाली लड़ाई को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गंभीरता से लेते हुए पड़ोसी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब व राजस्थान सहित अधिकतर राज्य ड्रग्स के खिलाफ जंग छेडऩे को तैयार हैं। मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन के अनुसार 20 अगस्त को चंडीगढ़ में होने वाली बैठक में नशे पर काबू पाने के साथ-साथ इस बीमारी की जड़ तक पहुंचने की रणनीति तय होगी।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान जाकर नवजोत सिंह सिद्धू को याद आए अटल, जानिए- क्या कहा

पंजाब में नशा इस कदर फैल चुका है कि इस मुद्दे पर बॉलीवुड 'उड़ता पंजाब' नाम से फिल्म भी बना चुका है। पंजाब से सटा होने के चलते हरियाणा और राजस्थान में भी इसका असर लगातार बढ़ रहा है। राजीव जैन के मुताबिक बैठक में हरियाणा के अलावा उत्तराखंड व पंजाब सहित बाकी राज्यों के मुख्यमंत्री या उनके प्रतिनिधि और आला अफसर भाग लेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha