जेएनएन, चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रकरण, जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा और पिछड़ा वर्ग के भारत बंद के दौरान तोड़फोड़ से सबक लेते हुए हरियाणा सरकार अब खुफिया तंत्र मजबूत करेगी। इसके तहत मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने खुफिया विभाग में निरीक्षक के 29 पद मंजूर किए गए हैं। हरियाणा में पहली बार सीआइडी में एक साथ इंस्पेक्टरों के इतने पद सृजित हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि कुछ समय से जिला गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला में पुलिस मंडल के अलावा हांसी में पुलिस जिला और चरखी दादरी के जिला बनने के बाद से खुफिया विंग में पदों को बढ़ाने की जरूरत महसूस की जा रही थी। इस पर पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने निरीक्षकों के 29 पद सृजित करने का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा था, जिसे मुख्यमंत्री ने मंजूरी दे दी।

इसके अलावा प्रदेश में पुलिसिंग सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए 26 महिला पुलिस स्टेशन स्थापित किए गए हैं। 52 महिला पीसीआर थानों में भेजी और महिला पुलिस जवानों की भर्ती की गई। हाल ही में मुख्यमंत्री ने सड़क सुरक्षा निधि के तहत 9 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं जिससे 61 एल्को सेंसर, 402 ई चालान मशीन, 12 इंटरसेप्टर वाहन, 12 छोटी आरैर 12 बड़ी क्रेन की खरीद की जाएगी।

सीएम के मीडिया सलाहकार राजीव जैन का कहना है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने असामाजिक गतिविधियों तथा प्रशासनिक प्रणाली में अड़चन पैदा करने वाली स्थितियों को समय से भांपकर उचित कदम उठाने के लिए सीआइडी में इंस्पेक्टर के 29 पद मंजूर किए हैं। निश्चित तौर पर इससे असामाजिक तत्वों पर शिकंजा कसेगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt