नई दिल्ली, [बिजेंद्र बंसल]। त्‍योहारों का सीजन आते ही हरियाणा और दिल्‍ली एनसीआर में नकली घी का कारोबार तेज हो जाता ह‍ै। हरियाणा के पांच शहर बड़ी मंडियां बन गए हैं। इन शहरों से दिल्ली एनसीआर में भी नकली घी आपूर्ति होती है। मुख्यमंत्री के उडऩदस्ते (सीएम फ्लाइंग) की पिछले दो माह की कार्रवाई ने यह साबित कर दिया है कि दिल्ली एनसीआर में बिकने वाला नकली घी फरीदाबाद,हिसार, सोनीपत, कैथल और जींद जिला में बनाया जाता है।

फरीदाबाद, हिसार, सोनीपत, कैथल और जींद में सीएम फ्लाइंग ने दो माह में पकड़ा 50 क्विंटल नकली घी

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ और सोनीपत के खरखौदा के अलावा दिल्ली के बवाना में भी नकली देसी घी बनाने के बड़े कारखाने हैं और ये कारखाने अब तक स्वास्थ्य विभाग तथा पुलिस के अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहे थे। सीएम फ्लाइंग ने हरियाणा के पांच जिलों से पांच हजार किलोग्राम (50 क्विंटल) नकली घी बरामद किया है। सीएम फ्लाइंग के अधिकारी बताते हैं कि बरामद किए गए इस नकली की मात्रा कुछ भी नहीं है। अनुमान है कि दिल्ली एनसीआर में नकली घी की त्योहारी सीजन में ही एक हजार टन तक मांग रहती है।

कैथल में पिछले दिनों में बरामद नकली घी की फैक्‍टरी में जांच करते कर्मी।

120 रुपये प्रति किलोग्राम बिकता है नकली देसी घी

दिल्ली-एनसीआर में इन दिनों बाजारों से लेकर बस स्टेंड और रेलवे स्टेशन से लेकर सब्जी मंडियों तक नकली देसी घी की दुकानें सजी हैं। यह नकली देसी 120 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिकता है। पहले तो घी विक्रेता चीख-चीखकर ग्राहकों को असली घी (देसी घी) मात्र 120 रुपये किलोग्राम में का लालच देकर अपनी दुकान पर बुलाते थे। इतना ही नहीं तब ये घी विक्रेता यह भी दावा लिखकर रखते थे कि नकली साबित कर दे तो पांच हजार रुपये का नकद ईनाम।

बल्लभगढ़, खरखौदा और बवाना शहरों की फैक्ट्रियों से दिल्ली एनसीआर में होती है नकली घी की आपूर्ति

इस घी को इस तरह तैयार किया जाता था कि इसकी सुगंध से हर कोई इसे असली घी ही मानता था। धीरे-धीरे इस घी की मांग पूरे दिल्ली-एनसीआर से लेकर हरियाणा के गांवों तक पहुंच गई तो कुछ असली घी बनाने वाली कंपनियों ने इसके खिलाफ कार्रवाई के लिए आवाज उठाई। हालांकि इन कंपनियों को नकली घी बनाने वालों के साथ प्रशासनिक मिलीभगत के कारण ज्यादा सफलता नहीं मिली। इसका एक कारण यह भी रहा है कि अब नकली घी विक्रेताओं ने अपनी दुकान पर देसी घी लिखना बंद कर दिया है। वैसे यह नकली देसी घी वनस्पति घी में सुगंधित पदार्थ डालकर दोबारा गर्म करके बनाया जाता है।

नए सीआइडी प्रमुख ने कसा है शिकंजा

हरियाणा के नए सीआइडी प्रमुख आलोक मित्तल ने नकली देसी घी से लेकर मिलावटी सामान बनाने वालों पर शिकंजा कसा है। सीएम फ्लाइंग चूंकि सीआइडी प्रमुख के मातहत होती है, इसलिए हरियाणा में एकाएक इसकी सक्रियता नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें: कृषि कानूनों पर पंजाब में सियासी जंग जारी, सुखबीर ने पूछे चार सवाल तो कैप्‍टन का पलटवार

 

यह भी पढ़ें: अमृतसर में चर्च में कांग्रेस नेता ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, एक युवक की मौत और भाई घायल


यह भी पढ़ें: क्‍या पंजाब में केंद्रीय कृषि कानून होंगे बेअसर, जानिये राज्‍य सरकार के बिलों व केेंद्र के कानूनों में अंतर


यह भी पढ़ें: नवजोत सिद्धू का फिर पंजाब सरकार पर हमला, कहा- MSP नहीं दे सकते तो माफिया राज बंद करो

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021