जेएनएन, चंडीगढ़। पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद CRPF (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) के जवानों के लिए पुरानी स्कीम के तहत पेंशन की मांग को लेकर देशभर के कर्मचारी वीरवार को संसद कूच करेंगे। इस दौरान केंद्र सरकार पर अर्दध सैनिक बलों के साथ ही सभी विभागों के कर्मचारियों को NPS (नेशनल पेंशन स्कीम) के तहत पेंशन देने का दबाव बनाया जाएगा। हरियाणा से करीब दस हजार कर्मचारी इस प्रदर्शन में शामिल होंगे।

अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी फेडरेशन के प्रधान सुभाष लांबा ने बताया कि 21 फरवरी को संसद कूच से पहले पुलवामा हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जनवरी 2004 के बाद नौकरी लगे कर्मचारियों और सीमा सुरक्षा बल (BSF), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) और सशस्त्र सीमा बल (SSB) जैसे केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) के जवानों को NPS प्रणाली के अंतर्गत लाया हुआ है। इसके चलते शहीद जवानों को पुरानी पेंशन स्कीम के तहत पेंशन नहीं मिल रही। उन्होंने बताया कि पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने और अनुबंध कर्मचारियों की सेवाएं नियमित करने की मांग को लेकर 21 फरवरी को संसद कूच किया जाएगा।

सर्व कर्मचारी संघ के प्रधान धर्मबीर फौगाट, वरिष्ठ उपप्रधान नरेश कुमार शास्त्री, मुख्य संगठनकर्ता वीरेंद्र डंगवाल और उपप्रधान सबिता ने कहा कि पश्चिम बंगाल को छोड़ कर सभी राज्यों ने एनपीएस को लागू कर दिया है। इससे आक्रोशित कर्मचारी लगातार आंदोलन चलाए हुए हैं। इसी कड़ी में संसद कूच कर नई पेंशन स्कीम की जगह पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने की मांग की जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस