जेएनएन, पंचकूला। सर्व कर्मचारी संघ के विधानसभा कूच के दौरान कर्मचारियों पर चंडीगढ़ पुलिस ने जमकर कहर ढाया। पुलिस ने कर्मचारियों पर लाठीचार्ज किया। साथ ही आंसू गैस के गोले व पानी की बौछारें भी छोड़े। चंडीगढ़ पुलिस ने पंचकूला के एरिया में आकर भी कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ा पीटा।

इस दौरान कर्मचारी सेक्टरों के अंदर घुस गए। सर्व कर्मचारी संघ के बैनर तले कर्मचारियों ने सोमवार दोपहर को पैदल मार्च किया और चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड चौक पर पहुंचे। जहां पर इनेलो के नेता भी प्रदर्शन को समर्थन देने पहुंचे। इस दौरान कुछ कर्मचारियों को चोटें भी लगी है।

प्रदर्शनकारियों पर पानी की बौछार छोड़ती पुलिस।

सर्व कर्मचारी संघ के महासचिव सुभाष लांबा ने बताया कि 31 मई 2018 के हाई कोर्ट के फैसले पर रेगुलराइजेशन ऑफ सर्विसेज एक्ट बनाने का भरोसा दिलाकर सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर कर कर्मचारियों की भावनाओं से खिलवाड़ करने तथा चुनावों के समय घोषणा पत्र में पंजाब के समान वेतनमान व कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने को लेकर वादाखि़लाफी से गुस्साए कर्मियों के रोष को सरकार की एस्मा के तहत स्वास्थ्य व रोड़वेज कर्मियों की गिरफ्तारियों व टर्मिनेशन ने आग में घी का काम कर दिया है।

पुलिस कार्रवाई में गिरे कर्मचारी।

सर्व कर्मचारी संघ के राज्य ऑडीटर व पंचकूला जिला के प्रभारी सतीश सेठी ने सरकार की दमनकारी नीतियों की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि कर्मचारी सरकार की तानाशाही का मुंहतोड़ जवाब देंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt