जेएनएन, चंडीगढ़। इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने पार्टी से अपने निष्कासन को खारिज कर दिया है। उन्होंने बातों ही बातों में अभय सिंह चौटाला को जयचंद की संज्ञा दे डाली और संकेत दिए की 17 नवंबर को जींद की धरती से शुरू होने वाले न्याय युद्ध के दौरान किसी भी पार्टी नेता को इनेलो से निष्कासित किया जा सकता है।

दुष्यंत यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। निष्कासन को लेकर दुष्यंत चौटाला का इशारा अभय सिंह चौटाला की तरफ भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि इनेलो से निष्कासन का उन्हें आज तक कोई पत्र नहीं मिला और यदि पत्र मिलता भी है तथा उस पर ओमप्रकाश चौटाला के साइन होंगे तभी वह मान्य होंगे।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इनेलो संगठन किसी एक व्यक्ति का नहीं है। विधानसभा में भ्रष्टाचार के मुद्दे बिल्कुल भी नहीं उठाए जाते। ऐसा लगता है कि इनेलो के कुछ नेता विधानसभा में भाजपा की भाषा बोलते हैं। दुष्यंत ने ऐसा कहकर कांग्रेस के उन आरोपों को बल प्रदान कर दिया जो जिसमें हुड्डा इनेलो व भाजपा की मिलीभगत के आरोप लगाते हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt