चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा की मनोहरलाल सरकार ने कोरोना महामारी के खिलाफ जंग के मद्देनजर बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने कोरोना की चपेट में आए लोगों का इलाज करने वाले चिकित्सा स्टाफ को बड़ा तोहफा दिया है। कोरोना संक्रमित लोगों का इलाज करने वाले डाक्टरों, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, एंबुलेंस चालक व परिचालक तथा टेस्टिंग लैब में कार्यरत स्टाफ को अब डबल वेतन मिलेगा। राज्य सरकार ने घोषणा की है कि जब तक कोरोना महामारी का प्रकोप रहेगा, तब तक उन्हें डबल वेतन दिया जाता रहेगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की घोषणा, महामारी का असर रहने तक मिलती रहेगी डबल सेलरी

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज और विभागीय अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बृहस्पतिवार शाम को वेतन डबल करने की घोषणा की। इससे पहले मुख्यमंत्री ने राज्य के प्रमुख चिकित्सकों, अस्पताल संचालकों तथा डाक्टरों की एसोसिएशन आइएमए के पदाधिकारियों से बातचीत की। स्वास्थ्य मंत्री भी इस बातचीत में शामिल हुए। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े इन लोगों ने कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे इंतजामों पर संतोष जाहिर किया।

डाक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंसकर्मी, चतुर्थ श्रेणी कर्मी और लैब स्टाफ होगा लाभान्वित

गृह मंत्री अनिल विज ने जानकारी दी कि राज्य में इस समय 134 कोरोना संक्रमित मरीज हैं, जिनमें से 106 तब्लीगी हैं। बाकी बचे 28 रोगी वही हैं, जो 29 या 30 मार्च को चिन्हित किए गए थे। यदि तब्लीगी जमात के यह लोग कोरोना स्प्रेड नहीं करते तो हरियाणा की स्थिति बाकी राज्यों से बहुत अधिक संतोषजनक कही जा सकती है। विज ने दावा किया कि हम कोरोना के विरुद्ध लड़ाई जीतेंगे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सेनापति के नाते डाक्टरों के प्रयास की दिल खोलकर सराहना की। उन्होंने कहा कि हमें जंग जीतने में प्रदेश की जनता का सहयोग मिल रहा है। उत्साह और जोश से डर को खत्म करना है। किसी भी व्यक्ति के इलाज में सरकार कोई भेदभाव नहीं करेगी।

यह भी पढ़ें: 'रामायण' के सुग्रीव की अस्थियां लॉकडाउन, रामचरितमानस का पाठ करते समय अचानक हुआ निधन

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने बताया कि चिकित्सा स्टाफ को वेतन डबल देने के अलावा एक्सग्रेशिया के लाभ ज्‍यों के त्यों मिलेंगे। किसी अनहोनी की स्थिति में डाक्टर को 50 लाख, नर्स को 30 लाख, पैरा मेडिकल स्टाफ को 20 लाख और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के परिजनों को 10 लाख रुपये की एक्सग्रेशिया राशि प्रदान की जाएगी।

--------

एनएचएम कर्मियों को मिला तीन माह का वेतन, ठेकाकर्मी अभी बाकी

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा के 14 हजार हेल्थ कर्मचारियों को तीन महीने का रुका हुआ वेतन मिल गया है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के अध्यक्ष सुभाष लांबा के अनुसार इस बारे में सरकार और विपक्ष दोनों से अनुरोध किया गया था, जिसके बाद एनएचएम के मिशन डारेक्टर द्वारा जारी 33.83 करोड़ का बजट आते ही अधिकतर जिलों में कार्यरत एनएचएम कर्मचारियों के खातों में जनवरी, फरवरी व मार्च महीने का वेतन डाल दिया गया है। सुभाष लांबा के अनुसार हेल्थ विभाग में ठेके पर लगे 10 हजार से अधिक ठेका कर्मचारियों को बकाया तीन महीने का वेतन अभी तक नहीं मिला है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: Lockdown में छ‍ह‍ जिलों की पुलिस को चकमा दे स्‍कूटी से 127 किमी पहुंची युवती, प्रेमी को ले गई

 

 

यह भी पढ़ें: पंजाब में कोरोना से नौवीं मौत व पांच संदिग्‍धों ने भी तोड़ा दम, 16 और पॉजिटिव मरीज मिले

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस