नई दिल्ली, जेएनएन। पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की कांग्रेस आलाकमान द्वारा अनदेखी करने से उनके समर्थकों में बेचैनी है। लोकसभा चुनाव से पहले हरियाणा कांग्रेस में बदलाव की मांग लेकर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा समर्थक विधायकों ने एक बार फिरर दिल्ली में डेरा डाल लिया है। हुड्डा समर्थक 11 विधायक नई दिल्ली पहुंचे। यहां उनकी आपस में गहन मंत्रणा हुई। इसके बाद विधायक करण दलाल और कुलदीप शर्मा ने प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद से मिलकर एक बार फिर हुड्डा को प्रदेश की कमान सौंपने की गुहार लगाई।

उल्लेखनीय है कि हुड्डा समर्थक 12 विधायकों ने जींद उपचुनाव के लिए मतदान के एक दिन बाद 29 जनवरी को प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद से मुलाकात की थी। तब आजाद ने इन विधायकों को कहा था कि लोकसभा चुनाव का समय नजदीक होने के कारण बड़ा बदलाव तो नहीं होगा, लेकिन हुड्डा को जरूर अहमियत मिलेगी।

इन विधायकों की बेचैनी यह है कि आलाकमान की तरफ से जींद उपचुनाव के बाद यह संकेत था कि फरवरी के पहले सप्ताह में ही राज्य कांग्रेस में बदलाव हो जाएगा। इसके तहत पूर्व सीएम हुड्डा को सामूहिक नेतृत्व के बावजूद भी अहम जिम्मेदारी दी जाएगी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ। उधर, 20 फरवरी से राज्य विधानसभा का बजट सत्र शुरू हो रहा है। यदि इससे पहले बदलाव नहीं हुआ तो फिर मौजूदा संगठन के बूते ही कांग्रेस को लोकसभा चुनाव लडऩा होगा।

यह भी पढ़ें: दोस्‍त संग जा रही युवती को कार से खींचकर 10 लोगाें किया सामू‍हिक दुष्कर्म, छह के स्‍कैच

हुड्डा के बगैर जननायक जनता पार्टी हो जाएगी सशक्त

सूत्र बताते हैं कि दोनों विधायकों ने एक स्वर में गुलाम नबी आजाद को यहां तक कह दिया है कि यदि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को अहम जिम्मेदारी नहीं दी या फिर कांग्रेस का चेहरा नहीं बनाया तो रोहतक, सोनीपत, झज्जर, जींद के जाट मतदाता पूरी तरह जननायक जनता पार्टी के साथ चले जाएंगे। बताया जाता है कि इनेलो के विघटन से पूर्व हुड्डा समर्थक एक विधायक ने यह कहा था कि यदि उनके नेता को राज्य कांग्रेस की जिम्मेदारी नहीं दी तो अभय सिंह चौटाला राज्य के सीएम बन जाएंगे।

यह भी पढ़ें: जब अंतरिक्ष में गूंजा था सारे जहां से अच्‍छा, जानिये राकेश शर्मा के बारे में 14 खास बातें

वाररूम में हुई बैठक के बाद तंवर के हौसले बुलंद

9 फरवरी को राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष होने के नाते डॉ.अशोक तंवर कांग्रेस के 15 जीआरजी स्थित वार रूम में राहुल गांधी के साथ बैठक कर चुके हैं। इस बैठक में राज्य कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी भी मौजूद थीं। सूत्र बताते हैं कि लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर हुई इस बैठक में तंवर को एक तरह से संजीवनी मिली है। तंवर के इस बैठक के बाद हौसले काफी बुलंद हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप