जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा में पांच विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां कांग्रेस को मात्र 4256 वोट और मिल जाते तो वह राज्य के सबसे बड़े दल के रूप में सामने होती और सरकार बनाती। यह दावा कांग्रेस संसदीय दल के पूर्व उप सचेतक दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने किया है। रोहतक के पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा एक दिसंबर से राज्य का दौरा शुरू करेंगे।

सोनीपत जिले की खरखौदा विधानसभा सीट से इसकी शुरुआत होगी। यहां से जयवीर वाल्मीकि तीसरी बार चुनाव जीते हैैं। दीपेंद्र राज्य की सभी 90 विधानसभा सीटों पर जाएंगे। पहले चरण में उन सीटों पर दौरे होंगे, जहां कांग्रेस चुनाव जीती है। इसके बाद 30 सीटें ऐसी हैं, जहां कांग्रेस की हार का अंतर काफी कम रहा है। वहां भी दीपेंद्र दौरा करेंगे।

मौजूदा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 31 विधानसभा सीटें जीती हैैं। भाजपा को 40 सीटें मिली। दीपेंद्र के अनुसार कैथल, थानेसर, रतिया, बडख़ल और होडल सीटें ऐसी हैं, जहां कांग्रेस को मात्र 4256 मतों की जरूरत थी। यह पांच सीटें भाजपा ने जीती हैं। कांग्रेस यदि यह पांचों सीटें जीत जाती तो उसकी सीटों की संख्या 36 हो जाती और भाजपा की सीटें 35 रह जाती।

काबिल-ए-गौर है कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष कु. सैलजा की जोड़ी पहले से राज्य के दौरे पर है। सैलजा व हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेश में भाजपा के विरुद्ध आंदोलनों की शुरुआत की जा चुकी है। अब हुड्डा प्रदेश की राजनीति में अपने बेटे दीपेंद्र को आगे बढ़ाएंगे। सांसद रहते दीपेंद्र को अक्सर दिल्ली जाना पड़ता था, लेकिन अब उनका फोकस चंडीगढ़ व राज्य की राजनीति पर होगा।

ऐसे संकेत खुद दीपेंद्र ने बातचीत के दौरान दिए हैैं। उनके अनुसार प्रदेश भर में झूठे सर्वे प्रचारित किए गए, जिससे लोगों में भ्रम की स्थिति बनी। 75 पार के नारे को भी मिथ्या हवा दी गई, जिससे लोगों में भ्रम पैदा हो गया।

दीपेंद्र के अनुसार विधानसभा चुनाव में वह जिस भी हलके में प्रचार के लिए गए, वहां कांग्रेस को जीत हासिल हुई है। प्रदेश के दौरे के समय वह बिगड़ती अर्थव्यवस्था, किसानों की खस्ता हालत, बढ़ती महंगाई, खतरनाक रूप ले चुकी बेरोजगारी और बीजेपी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ लोगों को जागरूक करेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस