मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली [बिजेंद्र बंसल]। हरियाणा में कांग्रेस नेता अब लोकसभा चुनाव की हार को भूलकर विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटेंगे। वे लोकसभा चुनाव में हार के लिए सिर्फ पुलवामा के बाद हुई एयर स्ट्राइक से बने राष्ट्रवाद का मुद्दा ही मुख्य कारण मान रहे हैं, इसलिए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष के इस्तीफे की मांग से लेकर लोकसभा के उम्मीदवारों की स्थानीय स्तर की शिकायतों को भी कोई तवज्जो नहीं दी गई।

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के कारणों की समीक्षा बैठक गत दिवस पार्टी के 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित वाररूम में हुई। इसकी अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने की। आजाद ने लोकसभा चुनाव हारे उम्मीदवारों की सलाह से प्रदेश के सभी कांग्रेसियों को स्थानीय स्तर की शिकायतों से क्लीनचिट देते हुए संदेश दिया कि अब सभी नेता एकजुट होकर विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। बैठक में प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति के सदस्यों के अलावा सभी दस लोकसभा क्षेत्रों के उम्मीदवार भी उपस्थित थे।

करीब ढाई घंटे तक चली इस बैठक में आजाद ने उम्मीदवारों से हार के कारण विस्तार से पूछे। ज्यादातर उम्मीदवारों ने ब्लॉक और जिला स्तर पर संगठन के अभाव भी दुखड़ा रोया। उम्मीदवारों ने यहां तक कहा कि वे चुनाव बिना संगठन के केवल अपने निजी कार्यकर्ताओं के बूते पर लड़ रहे थे। प्रदेश प्रभारी ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए कहा भले ही विधानसभा चुनाव काफी नजदीक है लेकिन जिस तरह प्रदेश में समन्वय समिति बनाई गई उसी तरह ब्लॉक और जिला स्तर पर भी समितियां बनाई जाएं।

विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने के लिए 4 जून को पार्टी नेताओं की एक बार फिर नई दिल्ली में बैठक होगी। बैठक में प्रदेश समन्वय समिति के चेयरमैन भूपेंद्र सिंह हुड्डा, प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अशोक तंवर, विधायक दल की नेता किरण चौधरी सहित समन्वय समिति के सभी सदस्यों और लोकसभा चुनाव में हारे नेताओं ने हिस्सा लिया।

भाजपा के सामने खड़े करें प्रादेशिक और स्थानीय मुद्दे

बैठक में आजाद ने नेताओं को यह भी संदेश दिया कि वे विधानसभा चुनाव में भाजपा के सामने एकजुटता का प्रदर्शन करके प्रादेशिक और स्थानीय स्तर के मुद्दे खड़े करें, ताकि सत्तारूढ़ दल को हराया जा सके। भाजपा की तरह बूथ स्तर पर कार्यकर्ता तैयार करने के लिए भी 4 जून की बैठक में रणनीति बनाई जाएगी। 18 से 35 साल तक के युवाओं में कांग्रेस बेरोजगारी, महंगी शिक्षा को मुद्दा बनाएगी। सूत्रों के अनुसार इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने पुलवामा के बाद हुई एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर मीडिया के नजरिये पर भी नाराजगी व्यक्त की। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप