जागरण संवाददाता, पंचकूला : अपनी मांगों को लेकर पिछले 12 दिन से आमरण अनशन कर रहे कंप्यूटर शिक्षकों ने सोमवार को सड़क पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान अनशनकारी भी शामिल थे, मगर स्वास्थ्य खराब होने के चलते तीन शिक्षक बेहोश हो गए। जिन्हें उपायुक्त कार्यालय से एंबुलेंस से सेक्टर-6 के सामान्य अस्पताल पहुंचाया गया। कंप्यूटर टीचर्स ने शिक्षा विभाग के घेराव के साथ पंचकूला उपायुक्त कार्यालय का भी घेराव किया। उपायुक्त कार्यालय पहुंचकर वहीं सड़क पर बैठकर नारेबाजी शुरू कर दी। तनावपूर्ण स्थिति को देख उपायुक्त ने प्रदर्शनकारियों को बातचीत के लिए बुलाया, मगर प्रदर्शनकारी उपायुक्त को सबके बीच में आकर बातचीत करने के लिए अड़ गए, कुछ देर बाद उपायुक्त ने खुद प्रदर्शनकारियों के बीच आकर संबोधित करते हुए सरकार से बैठक के लिए मंगलवार 11 बजे का समय तय होने की बात कही, तब जाकर प्रदर्शनकारी शात पड़े। शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बलराम धीमान ने बताया कि उपायुक्त के अनुसार मंगलवार दोपहर को कंप्यूटर टीचर्स के एक प्रतिनिधिमंडल की बैठक मुख्यमंत्री के विशेष सचिव खुल्लर के साथ होगी। धीमान ने कहा अगर इस बैठक में हमारा कोई समाधान नहीं निकाला गया तो हम आदोलन को और तेज करेंगे। मांगें पूरी होने के बाद ही खोलेंगे अनशन

दो महिलाओं सहित कुल आठ कंप्यूटर शिक्षक पिछले 12 दिन से आमरण अनशन पर बैठे हैं। संघ के महासचिव राजीव सैनी ने बताया सरकार को अनशन पर बैठे टीचर्स की कोई सुध नहीं है। इनके स्वास्थ्य में लगातार गिरावट हो रही है। यदि सरकार बैठक में कोई हल नहीं करती है तो आमरण अनशन तभी खोला जाएगा, जब हमारी मांगें पूरी हो जाएंगी। गौरव मालिक अंबाला, विकास पूनिया जींद, विक्रम सिंह फतेहाबाद अनशन पर है। सैनी ने मांग की कि मुख्यमंत्री के आदेशानुसार जल्द वेतन वृद्धि के आदेश जारी किए जाएं। कंप्यूटर शिक्षकों को शिक्षा विभाग में समायोजित किया जाए।

Posted By: Jagran