जागरण संवाददाता, पंचकूला : हरियाणा के कंप्यूटर शिक्षकों को मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर ने आश्वासन दिया है कि प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लगने से पहले उन्हें शिक्षा विभाग में समायोजित कर लिया जाएगा। मंगलवार को कंप्यूटर टीचर्स वेलफेयर एसोसिएशन हरियाणा का एक प्रतिनिधिमंडल राजेश खुल्लर से मिला। लंबी चर्चा के बाद शिक्षकों को यह आश्वासन दिया गया। एसोसिएशन के प्रधान बलराम धीमान ने बैठक के बाद बताया कि उनकी मांग को पीएस ने मान लिया है और हम मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त करते हैं। एसोसिएशन के बैनर तले यह शिक्षक पिछले 15 दिनों से पंचकूला के धरना ग्राउंड में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे थे। मंगलवार को घंटों इंतजार के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय में इन्हें बातचीत के लिए बुलाया गया। पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल बलराम धीमान, कपिल शर्मा, सुनील बिश्नोई, विनीता भटनागर, रजिया सुल्तान प्रधान सचिव से मिला। उपायुक्त ने शिक्षकों को दिया था सीएम के साथ बैठक का आश्वासन इससे पहले मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे प्रदेश के सैकड़ों कंप्यूटर टीचर्स मंगलवार को सड़क पर उतर आए और पंचकूला उपायुक्त कार्यालय का घेराव किया। मुख्यमंत्री से बातचीत को लेकर समय न मिलने पर गुस्साए शिक्षकों ने उपायुक्त कार्यालय के बाहर सड़क जाम कर दी। एक सप्ताह पहले पंचकूला उपायुक्त ने इन शिक्षकों को मुख्यमंत्री के साथ बैठक का आश्वासन दिया था। एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी जब उन्हें नहीं बुलाया गया, तो सैकड़ों शिक्षकों ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। प्रशासन की तरफ से प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास विफल रहा और आखिरकार प्रशासन को झुकना पड़ा। लंबी बातचीत के बाद उपायुक्त की तरफ से प्रयास के बाद मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर कर साथ बैठक का न्यौता आया, जिसके बाद टीचर्स शांत हुए। शक्षा विभाग में कंप्यूटर टीचर्स के 3216 स्वीकृत

कंप्यूटर टीचर्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बलराम धीमान ने बताया शिक्षा विभाग में कंप्यूटर टीचर्स के नाम पर 3216 स्वीकृत पद हैं और इन पदों के सभी नियम व शर्तें वर्तमान में काम कर रहे सभी कंप्यूटर टीचर्स पूरा करते हैं। धीमान ने बताया वर्षों से हमारी एक ही मांग है कि हमें शिक्षा विभाग में किसी स्थायी नीति के तहत समायोजित किया जाए ताकि भविष्य सुरक्षित हो सके और बार-बार सेवा मुक्त ना होना पड़े। संघ के महासचिव राजीव सैनी ने कहा यदि शिक्षा विभाग या सरकार द्वारा उनकी मांगों को पूर्ण करने के लिए कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया, तो जल्द ही कंप्यूटर टीचर्स फिर से आंदोलन को और तेज करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप