पंचकूला, [राजेश मलकानियां]। बॉलीवुड स्‍टार आयुष्मान खुराना ने पंचकूला के सेक्टर 6 में कोठी खरीदी है। आयुष्मान खुराना सोमवार को पंचकूला तहसीलदार कार्यालय में अपनी पत्‍नी ताहिरा कश्यप के साथ पहुंचे और कोठी की सेल डीड करवाई। आयुष्मान ने यह कोठी बिजनेसमैन सुभाष बिंद्रा और वीना बिंद्रा से खरीदी है। सेक्टर 6 वीवीआइपी सेक्टर है, जहां पर कई बड़े बिजनेसमैन, आइएएस, आइपीएस अधिकारी रहते हैं।

पत्‍नी ताहिरा के साथ डीड के लिए पहुंचे आयुष्मान, सुभाष एवं वीना बिंद्रा से खरीदी है कोठी  

आयुष्मान खुराना ने जो कोठी खरीदी है, वह 869.50 स्केयर मीटर है। उन्‍होंंने यह कोठी 9 करोड़ रुपये में खरीदी है। इसमें से उन्होंने छह करोड़ 72 लाख रुपये एरनेस्ट मनी के तौर पर दी थी और  6.75 लाख रुपये टीडीएस दिया। आज रजिस्ट्री के समय  दो करोड़ 21 लाख 25 हजार रुपये दिए। आयुष्मान खुराना के पिता वीरेंद्र खुराना मकान नंबर 1109 सेक्टर पंचकूला में रहते हैं। आयुष्मान और ताहिरा आज सेक्टर 2 में रुके हुये थे और यहीं से वह सीधे तहसीलदार कार्यालय पहुंचे।

पंचकूला के तहसीलदार कार्यालय में आयुष्‍मान खुराना और उनकी पत्‍नी।

उनके सभी दस्तावेजों की कार्रवाई ज्ञान सिंह सेक्टर 8 के डाक्यूमेंट सेंटर से पूरी की गई। तहसीलदार पुण्यदीप शर्मा के समक्ष आयुष्मान खुराना, ताहिरा कश्यप और सुभाष बिद्रा एवं वीना बिंद्रा ने सभी फार्मेलिटी पूरी की। इसके बाद खरीददारी एवं बेचने वालों की तहसीलदार के साथ फोटो होने के बाद यह कोठी आयुष्मान एवं ताहिरा कश्यप के नाम हो गई।

कोठी की रजिस्‍ट्री की औपचारिकता पूरी करते आयुष्‍मान खुराना।

जैसे ही तहसील कार्यालय के कर्मचारियों एवं यहां अपने काम करवाने के लिए आए लोगों को पता चला कि आयुष्मान खुराना तहसील में आ रहे हैं, तो वे उनकी एक झलक पाने काे उमड़ पड़े। आयुष्मान को तीन बजे आना था, लेकिन उन्हें सूचना मिल गई कि लोगों की भीड़ लगी हुई है। इस कारण वे लगभग शाम सवा चार बजे यहां पहुंचे। उनके साथ दो बाउंसर भी थे, जिन्होंने आयुष्मान एवं ताहिरा को घेर रखा था।

आयुष्‍मान खुराना ने पंचकूला में यही कोठी खरीदी है।

इसके बाद तहसीलदार पुण्यदीप शर्मा के साथ सभी कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद तहसील कार्यालय के कर्मचारियों के साथ आयुष्मान ने फोटो करवाई। लगभग 10 मिनट तक कर्मचारियों एवं लोगों ने तहसील कार्यालय में सेल्फी खिंचवाई। लोगों में सेल्फी के काफी क्रेज देखने को मिला, लेकिन कुछ लोगों को निराश होकर लौटना पड़ा।

यह भी पढ़ें: निजी क्षेत्र में 50 हजार तक के वेतन की 75 फीसद नौकरियां अब हरियाणवियों को, आएगा अध्‍यादेकश


यह भी पढ़ें: मानसून सीजन में कैबिनट ने की राहतों बारिश, किसानों का स्टांप शुल्क 2000 से सौ रुपये हुई

यह भी पढ़ें: बेहद खास हैं पानीपत की 3D चादरें, दाम में कम व काम में दम, चीन को उसी के वाटरजेट से मात


यह भी पढ़ें:  अनोखी है हरियाणा के इस गांव की कहानी, देशभर में पहुंच रही है यहां से बदलाव की बयार

 

यह भी पढ़ें: अमृतसर में ढाई साल पूर्व दशहरे के दिन हुए रेल हादसे में चार अफसर दोषी करार, मरे थे 58 लाेग

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस