जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा का बजट पेश होने के दो दिन बाद आज फिर विधानसभा की कार्यवाही शुरू होगी। आज फिर विधानसभा में हंगामा होने की संभावना है। आज वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु द्वारा पेश किए गए बजट पर चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष में टकराव हो सकता है। सत्ता पक्ष इस बजट को अभूतपूर्व बताते हुए आर्थिक सुधारों से उत्साहित है तो विपक्ष ने आंकड़ों की बाजीगरी बताते हुए सरकार को कठघरे में खड़ा कर रहा है।

विधानसभा में आज एक घंटे के प्रश्नकाल के बाद शून्यकाल में कांग्रेस और इनेलो विधायक विभिन्न मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की का‍ेशिश करेंगे। इसके साथ ही बजट पर चर्चा के दौरान हंगामा होना तय है। सरकार ने एक लाख 15 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया है, जिसका राजस्व घाटा करीब साढ़े आठ हजार करोड़ रुपये है। सोमवार को सरकार सात विधेयक सदन में पेश करेगी, जिनके थोड़े बहुत विरोध के बाद पास हो जाने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: दो बेटियों ने बढ़ाया हरियाणा का मान, दुश्‍मनों से देश की रक्षा को संभाला मोर्चा

राज्य सरकार की ओर से सोमवार को सदन में प्राइवेट डाक्टरों पर अंकुश लगाने के लिए दी हरियाणा क्लीनिकल इस्टेबलिशमेंट बिल पेश किया जाएगा। हरियाणा डेवलपमेंट एंड रेगुलेशन ऑफ अरबन एरिया बिल, दी मोटर व्हीकल हरियाणा अमेंडमेट बिल और दी हरियाणा सिविल सर्विसेज (एग्जीक्यूटिव ब्रांच) एंड अलाइड सर्विसेज एंड अदर सर्विसेज अमेंडमेंट बिल भी विधानसभा में पेश होंगे। इसके अलावा दी हरियाणा प्राइवेट यूनिवर्सिटी अमेंडमेंट बिल और दी हरियाणा मोटर व्हीकल टैक्सेशन अमेंडमेंट बिल भी विधानसभा में पेश किया जाएगा।

इन सवालों पर भी हंगामा की संभावना

1. इनेलो के रामचंद्र कांबोज सरकार से भ्रष्टाचार में शामिल अधिकारियों व कर्मचारियों का ब्योरा मांगेंगे।

2. विशंभर सिंह उन नहरों की संख्या पूछेंगे, जिनमें 20 साल या इससे अधिक समय से पानी नहीं पहुंचा।

3. इनेलो के जाकिर हुसैन सरकार से पूछेंगे कि नूंह के पिछड़े इलाकों में स्कूलों का दर्जा बढ़ाने की 2015 की घोषणा को अभी तक लागू क्यों नहीं किया गया।

यह भी पढ़ें: दादा ने कहा था-कोई भी काम करो, हार नहीं होनी चाहिए; प्रीति ने नाप लिया आसमान

4. किरण चौधरी नंदीशालाओं में सुविधाओं और सुधारों की कमी का मुद्दा उठाएंगी।

5. जसबीर सिंह गन्ने की पेराई और किसानों के बकाया भुगतान का सवाल सरकार से पूछेंगे।

6. इनेलो विधायक रणबीर गंगवा राज्य में अनुबंध आधार पर हो रही भर्तियों को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा कर सकते हैं।

7. बलवंत सिंह राज्य में साढ़े तीन साल में खुले महिला कालेजों का ब्योरा सरकार से मांगते नजर आएंगे।

8. बलवान सिंह पराली से गत्ता बनाने के लिए उद्योग स्थापित करने का मुद्दा उठाएंगे।

9. उदयभान सरकार से राज्य में अनुसूचित जाति आयोग के गठन में देरी के सवाल पर सरकार को घेरेंगे।

10. विधायक जसविंद्र सिंह संधू बिल्डरों पर बकाया इडीसी और आइडीसी की राशि के बारे में डिटेल मांगेंगे।

यह भी पढ़ें: जज्‍बे काे सलाम: हरियाणा सरकार की नौकरी ठुकरा शहीद मेजर की पत्नी चली पति की राह

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप