जेएनएन, चंडीगढ़। CID (क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट) की रिपोर्टिंग मुख्यमंत्री को किए जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अनिल विज पर चुुुुुटकी ली है। उन्होंने कहा कि विज अब बगैर आंख और कान वाले विभाग के मंत्री हैं। कुछ दिन पहले अनिल विज ने CID के बगैर गृह विभाग को ठीक वैसा बताया था जैसे बगैर आंख और कान के कोई व्यक्ति होता है।

अपने सरकारी निवास पर वीरवार को पत्रकारों से बातचीत में हुड्डा ने कहा कि CID को गृह विभाग से अलग कर मुख्यमंत्री ने अपने पास ले लिया है। अब विज के पास गृह विभाग के रूप में केवल हाथ और पैर रह गए हैंं, जबकि आंख और कान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास चले गए हैं। ऐसे में क्या वह अपने बयान के अनुसार इस्तीफा देंगे, यह देखने वाली बात है।

इस दौरान विधायक गीता भुक्कल, शकुंतला खटक, बीबी बत्तरा, जगबीर मलिक, पूर्व विधायक कुलदीप शर्मा, प्रो. वीरेंद्र सिंह उनके साथ थे। हुड्डा ने कहा कि पिछले दो महीने से प्रदेश में CID विवाद के चलते कहीं कोई विकास का काम नहीं हो रहा है। हरियाणा के लोगों को बड़ी बेसब्री से इस बात का इंतजार है कि दूसरी बार सत्ता संभालने वाली भाजपा सरकार कब विकास कार्य शुरू करेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने आरोप जड़ा कि जिस तरह केंद्र सरकार लोगों का ध्यान भटकाने के लिए अलग-अलग मुद्दे उठाती रहती है, उसी तर्ज पर प्रदेश सरकार ने भी CID का विवाद खड़ा कर पूरे प्रदेश के लोगों का ध्यान डायवर्ट कर दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल की सरकार हो या उनका कार्यकाल, CID हमेशा ही मुख्यमंत्री के अधीन रही है और सीएम को ही रिपोर्ट करती रही है। इसमें गृह मंत्री का कोई सरोकार नहीं होता।

धान घोटाले की हो CBI जांच

हुड्डा ने धान घोटाले की जांच CBI से कराने की मांग करते हुए कहा कि पिछले तीन साल से यह घोटाला चल रहा है। कांग्रेस सदन के भीतर और बाहर यह मामला उठाती रही। अब साफ हो गया है कि हरियाणा में 90 करोड़ का धान घोटाला हुआ है, लेकिन यह घोटाला इससे कहीं बड़ा है। विपक्ष के नेता ने कहा कि अवैध खनन लगातार जारी है। रोडवेज की किलोमीटर स्कीम और ओवरलोडिंग में भी बड़ा घोटाला हुआ।

किसानों का घाटा पूरा करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि विभाग बदलने और अधिकारियों के तबादलों से सरकार नहीं चलती। इसके लिए जनहित में काम करने की जरूरत है। उन्होंने कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल करने तथा बुढ़ापा पेंशन को बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि हरियाणा का यह गठबंधन जनहित में नहीं, बल्कि राजनीतिक स्वार्थों के लिए किया गया गठबंधन है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस