जेएनएन, चंडीगढ़। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन हरियाणा में बहने वाली सरस्वती और यमुना नदी में भी होगा। वीरवार को हिंदुओं के पवित्र स्थल पिहोवा और यमुनानगर में हथनीकुंड बैराज पर पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थियां विसर्जित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी जाएगी। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ पूरी कैबिनेट मौजूद रहेगी।

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी व विधायक उमेश अग्रवाल और प्रदेश महामंत्री वेदपाल एडवोकेट ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला 22 अगस्त को सुबह 11 बजे नई दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय से फूलों से सजे दो अलग-अलग रथ में अस्थि कलश लेकर बहादुरगढ़ बार्डर पहुंचेंगे। यहां मुख्यमंत्री मनोहर लाल, मंत्रियों के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता अस्थि कलश पर पुष्पांजलि अर्पित कर पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देंगे।

मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन के मुताबिक बहादुरगढ़ बार्डर से एक रथ रोहतक, जींद व कैथल होते हुए पिहोवा पहुंचेगा। सुभाष बराला इस रथ के साथ चलेंगे। मार्ग पर सभी व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी प्रदेश महासचिव संदीप जोशी व प्रदेश सचिव जवाहर सैनी की रहेगी। पिहोवा में सरस्वती घाट पर अस्थियां विसर्जित की जाएंगी।

दूसरा अस्थि कलश लेकर रथ शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा की अगुआई में सोनीपत, पानीपत, घरौंडा, करनाल, इंद्री, लाडवा व रादौर होते हुए यमुनानगर पहुंचेगा। इस मार्ग की व्यवस्था भाजपा के प्रदेश महासचिव एडवोकेट वेदपाल व प्रदेश सचिव सत्यवान शेरा देखेंगे। इस दौरान दोनों रूटों पर आमजन भी पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थियों के दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दे सकेंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt