जेएनएन, चंडीगढ़। परिवहन विभाग ने 7 अगस्त को राष्ट्रव्यापी हड़ताल के दौरान हरियाणा रोडवेज बसों का चक्का जाम करने वाले कर्मचारियों पर शिकंजा कस दिया है। हड़ताल में शामिल हरियाणा रोडवेज वर्कर्स यूनियन के प्रदेश उप महासचिव राम आसरे यादव को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही हाल ही में भर्ती 900 नए चालकों पर कार्रवाई की सिफारिश की गई है। इससे भड़की संयुक्त संघर्ष समिति ने बृहस्पतिवार को फरीदाबाद में बसों का चक्का जाम करने की घोषणा करने और पूरे प्रदेश में प्रदर्शन का एेलान किया है।

7 अगस्त की हड़ताल में शामिल 900 नए चालकों पर कार्रवाई की सिफारिश

परिवहन निदेशालय की कार्रवाई से खफा संयुक्त संघर्ष समिति ने चेतावनी दी है कि अगर 48 घंटे में फरीदाबाद के सस्पेंड कर्मचारी नेता को बहाल नहीं किया तो पूरे प्रदेश में रोडवेज बसों का चक्का जाम करने को मजबूर होंगे। समिति पदाधिकारियों वीरेंद्र सिंह धनखड़, इंद्र सिंह बधाना, शरबत सिंह पूनिया व पहल सिंह तंवर ने कहा कि किलोमीटर स्कीम के तहत 720 बसों के संचालन का निर्णय वापस लेने की बजाय कर्मचारियों पर दमनात्मक कार्रवाई कर जले पर नमक छिड़का जा रहा है।

यह भी पढ़ें: यदि आपका ब्‍लड ग्रुप भी है फेनोटाइप, तो हो सकती है मुसीबत, पढ़ें यह खबर

संयुक्त संघर्ष समिति भड़की, कल फरीदाबाद में हड़ताल के साथ पूरे प्रदेश में प्रदर्शन

उन्होंने कहा कि राम आसरे यादव को निलंबित करने के साथ ही 900 चालकों व क्लर्कों पर कार्रवाई की सिफारिश करके उच्च अधिकारियों ने सीधे ट्रेड यूनियन के अधिकारों पर हमला किया है। इसे रोडवेज कर्मचारी बर्दाश्त नहीं करेंगे।


हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha