राजेश मलकानियां, पंचकूला

शहर के सेक्टर-20 निवासी बिल्डर से रंगदारी वसूलने के मामले में गिरफ्तार आरोपितों ने पंजाब के एक गैंगस्टर की फोटो वाट्सएप पर डीपी के तौर पर लगा रखी थी। जबकि गैंगस्टर सूक्खा काहलों की पंजाब पुलिस के साथ मुठभेड़ में मौत हो चुकी है। फिर भी सूक्खा काहलों को अपना आइडियल मानते हुए सचिन, अयाज अली और विशाल ने उसकी फोटो वाट्सएप की डीपी पर लगा ली।

पुलिस के मुताबिक पहली बार ही इन तीनों ने किसी से रंगदारी मांगी थी। जीरकपुर में यह तीनों तीन फरवरी को एकत्र हुए थे। इसी दिन वे वारदात को अंजाम देना चाहते थे, लेकिन ऐसा न हो सका। इसके बाद 4 फरवरी को उन्होंने देवव्रत वर्मा को वाट्सएप कॉल कर धमकी दी। फिर वायस मैसेज भी भेजा।

पुलिस का कहना है कि वाट्सएप पर गैंगस्टर सुक्खा काहलों की फोटो लगाकर आरोपितों ने दबाव बनाने की कोशिश की। आरोपित फेसबुक पर सोपू ग्रुप की आइडी को भी फॉलो कर रहे थे। अयाज अली मनीमाजरा में दो साल पहले पेंटर का काम करता था। अयाज अली और सचिन की दोस्ती फेसबुक के जरिये साल 2018 में हुई थी। सोपू की आइडी फॉलो करते हुए विशाल और सचिन दोस्त बने। इसके बाद तीनों के बीच बातचीत शुरू हुई। हालांकि अभी तक उन्होंने किसी आपराध को अंजाम नहीं दिया है और किसी बड़े गैंग या गैंगस्टर से इनका संबंध नहीं है। आरोपितों का आपराधिक रिकार्ड खंगाल रही पंचकूला पुलिस

पुलिस ने दूसरे राज्यों की पुलिस को भी आरोपितों की फोटो भेजी है, ताकि पता चल सके कि उनका क्रिमनल रिकॉर्ड किसी दूसरे राज्य में तो नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस