राजकुमार, कालका : सस्ते के नाम पर सुनहरे सपने दिखाते हुए लोगों की आंखों में धूल झोंककर कई डीलर अधिकारियों की सांठ-गांठ से दो तीन मंजिल कोठियां व तीन मंजिल के फ्लोर अवैध रूप से बेच रहे हैं। बड़ी बात तो यह है कि कालका में फ्लोर के हिसाब से मकान की रजिस्ट्री नहीं होती लेकिन बावजूद इसके यहां अवैध कंस्ट्रक्शन, सेलिग, माइनिग प्लॉटिग आदि का कार्य सरेआम चल रहा है। यहां तोसा बीच के पीछे दूर तक नदी के किनारे अधिकतर जगहों पर ऐसा गदर मचा हुआ है। जोकि अधिकारियों की डीलरों के साथ सांठ-गांठ होने की पोल खोल रहा है। इस एरिया में कुछ डीलर बेखौफ नियम-कायदों की धज्जियां उड़ाते हुए न केवल प्लॉट व मकान और फ्लोर बेच रहे हैं। बल्कि सरकारी की करोड़ों रुपये की सरकारी जमीन भी दबा रहे हैं और अवैध रूप से चलने वाले कार्य बदस्तूर जारी हैं। नदी हुई नाले में तब्दील

वर्षो पहले खाईनुमा खाली जगह पड़ी जगह पर अब बहुमंजिला इमारतें बन गई हैं। डीलरों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि सरेआम माइनिग करते हुए डंगे लगाकर तीन-तीन मंजिला फ्लोर के खड़े करके ज्यादातर बाहरी लोगों को बेचे जा रहे हैं। यहां लंबी-चौड़ी सुखना नदी भी सिकुड़कर किसी बरसाती नाले की तरह दिखाई देने लगी है और हालात ऐसे ही चलते रहे तो सुखना नदी भी बीते दिनों की बात बनकर रह जाएगी। लोग बोले : तुरंत हो कार्रवाई

ड्रीम तोसा बीच के पीछे तो अनेक डीलरों व बिल्डरों ने तो अवैध रूप से काम करने की मानो सभी हदें पार कर दी हो। फ्लोर बेचने का खेल ऐसा चल रहा है कि लोगों के कुछ समझ नहीं आ रहा। जबकि यहां फ्लोर वाइज रजिस्ट्री नहीं हो रही हैं। प्रशासन अवैध कार्य करने वालों के खिलाफ कडी कार्रवाई करनी चाहिए।

-सुषमा रावल नदी किनारे डंगे लगाकर बहुमंजिला इमारतों का निर्माण कार्य जोरों पर चल रहा है। जोकि भविष्य में जानलेवा साबित हो सकता है। ड्रीम व‌र्ल्ड की जगह के पीछे अनेक भूमाफिया की आंखों में धूल झोंक कर चांदी कूट रहे हैं लेकिन इसके बाद भी अधिकारियों को जानकारी न हो, यह बात हजम नहीं होती है।

-अजय शर्मा प्रशासन को दिखावा नहीं बल्कि ठोस कार्रवाई करनी चाहिए ताकि लोगों की उम्रभर की खून पसीने की कमाई को लुटने से बचाया जा सके। क्योंकि बाद में ऐसा न हो कि लोगों के पास न तो उनका मकान रहे और न ही पैसा रहे। मुंगेरीलाल के हसीन सपने दिखाकर अवैध मकान, फ्लोर व प्लॉट बेचने वालों पर शिकंजा कंसा जाए।

-अशोक कुमार पहले डीलरों के लाइसेंस की जांच हो। नियमों को ताक पर रखकर अवैध रूप से बहुमंजिला भवन बनाकर बेचने वालों पर ऐसी कार्रवाई होनी चाहिए कि वह दोबारा लोगों की जेब को चपत नहीं लगा सकें। लेकिन यह सब तभी संभव है जब प्रशासन पूरी तरह लोगों को बचाने के लिए दिल से कार्य करें।

-गुरमीत सिंह अफसरों की सुनिए

-एसडीएम राकेश संधू ने बताया कि लोगों को मकान व प्लॉट खरीदने से पहले उस जगह के बारे में पूरी जांच करनी चाहिए। अवैध रूप से कार्य करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

-तहसीलदार वीरेन्द्र गिल ने कहा कि वह मामले को चेक करके उचित कार्रवाई करेंगे। लोगों को ऐसी अवैध कॉलोनियों में मकान लेने से बचना चाहिए।

-निगम के बिल्डिंग इंस्पेक्टर दर्शन लाल ने बताया कि हरियाणा बिल्डिंग कोड 2017 के तहत फ्लोरवाइज भवन बेचने के मामले में कोई परमिशन नहीं दी गई है। मामला संज्ञान में आया है और हालात का जायजा लेकर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस