नई दिल्ली, जेएनएन। मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल हरियाणा के बजट को अंतिम रूप देने में जुट गए हैं। मुख्‍यमंत्री के पास ही वित्‍त विभाग भी है। बजट में सांसदों के महत्‍वपूर्ण सुझाव शामिल किए जाएंगे। मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल इसके लिए हरियाणा से सांसदों के साथ प्री बजट बैठक करेंगे। यही कारण है कि प्रदेश का बजट इस बार कई मायनों में एकदम अलग होगा।

वित्त मंत्री के रूप में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पहल करते हुए सभी वर्गों के प्रतिनिधियों के सुझाव लेने के लिए विभिन्न शहरों में जाकर प्री-बजट बैठक की। इसके साथ ही 17 फरवरी से शुरू होने जा रहे है राज्य विधानसभा के बजट सत्र में पहले तीन दिन सभी दलों के विधायकों से उनके सुझाव लिए जाएंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने राज्य से चुने गए लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों की भी प्री-बजट को लेकर बैठक बुलाई है।

विधायकों से पहले सांसदों के साथ प्री-बजट बैठक करेंगे सीएम, दिल्‍ली में 10 को होगी बैठक

दिल्ली स्थित सांसद धर्मबीर सिंह के निवास पर 10 फरवरी की सायं होने वाली इस बैठक में मुख्यमंत्री सभी सांसदों से बजट में शामिल करने के लिए उनके सुझाव लेंगे।

मनोहर सरकार पार्ट-दो बनने के बाद सांसदों के साथ सीएम की दूसरी बैठक

मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने दूसरे कार्यकाल में सांसदों के साथ दूसरी बार बैठक कर रहे हैं। इससे पहले 27 नवंबर 2019 को मुख्यमंत्री ने केंद्रीय राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया के निवास पर सांसदों के साथ बैठक की थी। इस बैठक में सांसदों ने सीएम के समक्ष सुझाव रखा था कि राज्य सरकार राजनीतिक नियुक्तियों में सांसदों की संस्तुतियों का भी ध्यान रखे। तब बैठक में पार्टी के प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव डा.अनिल जैन भी उपस्थित रहे थे।

माइक्रो से मैक्रो परियोजनाओं का समग्र बजट चाहते हैं सीएम

मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा का बजट कुछ इस तरह पेश करना चाहते हैं जिसमें माइक्रो से लेकर मैक्रो स्तर पर परियोजनाओं का समावेश हो। यही कारण है कि जहां उन्होंने उद्योग, व्यापार, कृषि से लेकर शिक्षा क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ चर्चा करने के बाद विधायकों से उनके क्षेत्रानुसार सुझाव भी मांगे हैं। विधायक संभवत: सिर्फ अपने क्षेत्र विशेष के सुझाव दें इसलिए उन्होंने एक लोकसभा क्षेत्र की परियोजनाओं पर भी फोकस करने के लिए सांसदों से सुझाव मांगने के लिए दिल्ली में बैठक बुलाई है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

यह भी पढ़ें: शहादत के बाद खूब किए वादे, समय गुजरा तो भूल गई सरकार, न दी नौकरी न बनी यादगार

यह भी पढ़ें: मनोहर का ऐलान- उद्योगों में 75 फीसद अकुशल कर्मचारी अब हरियाणा के होंगे, सख्‍ती से करेंगे लागू

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस