जासं, पंचकूला : शहर में वसूली जा रही पार्किग फीस का विरोध होने लगा है। लोक सर्वहितकारी सोसायटी के प्रधान राकेश अग्रवाल ने कहा कि पंचकूला में विदेशों की तरह ऐसा कौन सा बड़ा आधुनिक कार्य किया जा रहा है, जो जनता के लिए फायदेमंद हो। शहर की बाकी जगहों की पार्किग के हालात पहले ही खराब है, इसलिए फीस वसूली जा रही है। हम पेड पार्किंग का विरोध करते हैं।

अपेक्षा सोसायटी की प्रधान सीमा भारद्वाज ने कहा कि नगर निगम आयुक्त जब भी शहर में नया आता है, तो उसके अपने ही नियम होते हैं। पार्किंग नगर निगम के अंतर्गत आती है, लेकिन फजीहत से बचने के लिए प्रशासन को दे दी, ताकि विरोध न हो। जब पार्किग्स से मोटी आमदनी शुरू हो जाएगी, तो निगम इसे वापस अपने पास ले लेगा। हम सड़कों पर पेड पार्किग का विरोध करेंगे।

रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन सेक्टर-16 के महासचिव सुभाष पपनेजा ने कहा कि डीसी साहब जिला बाल कल्याण परिषद की आमदनी बढ़ाना चाहते हैं, जहां के खर्चे पर कोई अंकुश नहीं होता। अब यह कर लोकल अर्बन बॉडी का नहीं माना जा सकेगा। स्थानीय विधायक को इस ओर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि जनता से वादे करके वोट ले ली और अब बोझ डाला जा रहा है।

हाउस ऑनर्स वेलफेयर एसोसिएशन सेक्टर-10 के चेयरमैन भारत हितैषी ने कहा कि मैं निजी तौर पर पेड पार्किग के विरोध में नहीं हूं, लेकिन सभी सुविधाएं भी मिलनी चाहिए। शहर में वाहनों को खड़ा करने के पर्याप्त जगह नहीं, मार्केटों में बेतरतीब वाहन खड़े रहते हैं, इसलिए पहले वाहनों को सही ढंग से लगाने के लिए प्रयास करें, आवश्यक पार्किग बने, तभी फीस वसूली जाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस