चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का सुरक्षा घेरा मजबूत कर दिया गया है। विधानसभा चुनाव के दौरान आबू धाबी में मेकेनिक का काम करने वाले रेवाड़ी जिले के एक व्यक्ति ने दुष्यंत चौटाला को फोन पर जान से मारने की धमकी दी थी। दुष्यंत के लिए यह धमकी उनके निजी सचिव के फोन पर आई थी। अब राज्य सरकार ने सुरक्षा रिव्यू करने के बाद दुष्यंत चौटाला को जेड श्रेणी की सिक्योरिटी देने का निर्णय किया है।

सीबीआइ जज जगदीप सिंह के बाद दुष्यंत जेड सिक्योरिटी वाले दूसरे व्यक्ति

दुष्यंत चौटाला हरियाणा में दूसरे ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्हें जेड श्रेणी की सिक्योरिटी उपलब्ध कराई गई है। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाने वाले सीबीआइ के जज जगदीप सिंह को भी सरकार ने जेड सिक्योरिटी दे रखी है। अब उनके साथ बुलेट प्रूफ वाहन काफी पुराना हो चुका है। सुरक्षा रिव्यू बैठक में निर्णय लिया गया है कि जगदीप सिंह के साथ नया बुलेट प्रूफ वाहन उपलब्ध कराया जाएगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास जेड प्लस सिक्योरिटी है। जेड सिक्योरिटी में 22 सुरक्षा जवानों का घेरा होता है। जींद जिले के उचाना पुलिस स्टेशन में 15 अक्टूबर को पिछले साल सतीश बैनीवाल की शिकायत पर पुलिस केस दर्ज किया गया था। धमकी देने वाले की पहचान रेवाड़ी के रामपुरा के रहने वाले पवन पुत्र बलराम यादव के रूप में हुई थी। रिव्यू कमेटी ने अपने रिपोर्ट में कहा था कि यह मामला इंटरनेशनल धमकी से जुड़ा है और दुष्यंत चौटाला अब प्रदेश के उप मुख्यमंत्री हैं, ऐसे में उनकी सिक्योरिटी बढ़ाई जानी चाहिए।

हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से अगले छह महीनों के लिए दुष्यंत को जेड सिक्योरिटी देने के आदेश दिए। इसके बाद फिर से रिव्यू होगा और ज़रूरी हुआ था सिक्योरिटी को कम भी किया जा सकता है और बढ़ाया भी जा सकता है। चंडीगढ़ एसआईबी के एडीजीपी मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई सुरक्षा रिव्यू बैठक में सिक्योरिटी के आइजी सौरभ सिंह, सीआइडी के एसपी हामिद अख्तर, चंडीगढ़ स्टेट इंटेलिजेंस ब्यूरो के असिस्टेंट डायरेक्टर जेपी जस्सू और गृह विभाग के अंडर सेक्रेटरी महा सिंह भी मौजूद थे। बैठक में हरियाणा पुलिस की ओर से दुष्यंत को जेड सिक्योरिटी की सिफारिश की।

जेड श्रेणी की सुरक्षा में यह सब कुछ

जेड श्रेणी की सुरक्षा में चार से पांच एनएसजी कमांडो सहित कुल 22 सुरक्षागार्ड तैनात होते हैं। इसमें दिल्ली पुलिस, आइटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो व स्थानीय पुलिसकर्मी भी शामिल होते हैं। इन सुरक्षाकर्मियों को दुष्यंत के चंडीगढ़, जींद और सिरसा आवास पर भी तैनात किया जाएगा।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

यह भी पढ़ें: कांस्टेबल पति ने बाल काट व मुंह काला कर पत्‍नी को गांव में घुमाया, सौतन लाने का किया था विरोध

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस