जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के औद्योगिक रूप से पिछड़े क्षेत्रों में निवेश के लिए प्रदेश सरकार अडानी सहित चार बड़ी कंपनियों को 1246 करोड़ रुपये का प्रोत्साहन पैकेज देगी। आरती ग्रीन टैक लिमिटेड को 30.06 करोड़, अडानी विलमार लिमिटेड को 65.94 करोड़, वंडर सीमेंट लिमिटेड के लिए 298 करोड़ और एम्प्रैक्स टेक्नोलॉजी लिमिटेड के लिए 852 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।

हरियाणा उद्यम प्रोत्साहन बोर्ड की सातवीं बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। खंड बी, सी और डी श्रेणी में स्थापित की जाने वाली चारों मेगा परियोजनाओं से युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, शिक्षा मंत्री कंवर पाल और श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक की मौजूदगी में हरियाणा उद्यम प्रोत्साहन केंद्र में 37 और औद्योगिक नीति एवं प्रोत्साहन ब्यूरो में 14 पदों को भरने की मंजूरी दी गई।

विशेष पैकेज स्वीकृत करने के लिए उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रशासनिक सचिव को प्राधिकृत किया गया है। बोर्ड द्वारा मेगा परियोजनाओं को प्रोत्साहनों के विशेष पैकेज प्रदान करने की स्वीकृति मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में गठित कार्यकारी अधिकार प्राप्त कमेटी (ईईसी) की सिफारिश पर की गई। मेगा परियोजनाओं में वे परियोजनाएं शामिल हैं, जिनका डी श्रेणी खंड में निर्धारित पूंजीगत निवेश 100 करोड़ रुपये से अधिक है या फिर 200 लोगों को सीधे रोजगार मिलता है। बी एवं सी श्रेणी में निर्धारित पूंजीगत निवेश 100 करोड़ रुपये या 500 से अधिक लोगों के लिए सीधे रोजगार होना चाहिए।

रोहतक, सोनीपत, झज्जर और गुरुग्राम में लगेंगे प्रोजेक्ट

  1. आरती ग्रीन टैक लिमिटेड आइएमटी रोहतक में 9.92 एकड़ भूमि पर स्टील स्क्रैप प्रोसेसिंग की यूनिट लगाएगी। पहले चरण में कंपनी ने 129 लोगों को रोजगार के साथ 151 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव दिया है।
  2. अडानी विलमार लिमिटेड सोनीपत के गोहाना-मुडलाना में कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण की यूनिट लगाएगी। इसमें एक चावल मिल, चावल से चावल मिलिंग एवं ग्रेडिंग, विलायक निष्कर्षण संयंत्र और राइस ब्रान ऑयल रिफाइनरी यूनिट शामिल हैं। 450 करोड़ रुपये के निवेश से 67 एकड़ में लगने वाली परियोजना से करीब एक हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।
  3. वंडर सीमेंट लिमिटेड झज्जर के गांव झांसवा में 50 एकड़ क्षेत्र पर 300 करोड़ रुपये के निवेश के साथ सीमेंट ग्राइंडिंग इकाई स्थापित करेगी। इस यूनिट में 2.5 मिलियन टन सीमेंट को ग्राइंडिंग की जा सकेगी। करीब 750 लोगों को रोजगार मिलेगा।
  4. हांगकांग की कंपनी एम्प्रैक्स टेक्नोलॉजी लिमिटेड आइएमटी सोहना में 179 एकड़ क्षेत्र पर रिचार्जेबल लिथियम इयोन सेल एवं बैट्रीज के निर्माण की यूनिट लगाएगी। इसमें हर वर्ष 220 मिलियन बैट्री बनाई जा सकेंगी। कंपनी आगामी छह वर्षों में 7083 करोड़ रुपये का निवेश भी करेगी।

 यह भी पढ़ें: यहां मिलती है Kidney patients को Dialysis की मुफ्त सुविधा, सेवा के जज्बे से जीवन को मिल रही नई धारा

यह भी पढ़ें: High security number plate की होगी Home Delivery, विभागीय स्तर पर प्रक्रिया शुरू

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस