जागरण संवाददाता, पंचकूला : वर्षो से सेक्टर-21, गाव महेशपुर के पास करोड़ों रुपये की जमीन पर कब्जा करके बैठे मद्रासी कॉलोनी के लोगों को फ्लैट अलॉट कर दिए जाएंगे। यहां सैकड़ों परिवार रहते हैं, लेकिन 100 परिवार ही लाभपात्र हैं, जिन्हें फ्लैट दिए जाएंगे। फ्लैट अलॉटमेंट को लेकर सोमवार को सेक्टर-1 के एडीसी कार्यालय में स्क्रूटनी कमेटी की मीटिंग आयोजित की गई। मीटिंग में जिला प्रशासन, एचएसवीपी, फूड एंड सप्लाई सहित कई विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। कमेटी के चेयरमैन एडीसी जगदीप ढाडा ने फ्लैट के लिए मिले आवेदनों के दस्तावेजों को जल्द से जल्द वेरीफाई करवाने को कहा, ताकि फ्लैट अलॉटमेंट का काम पूरा किया जा सके। 2009 में सरकार की ओर से आशियाना स्कीम के तहत शहर के लोगों से आशियाना फ्लैट्स के अलॉटमेंट को लेकर विज्ञापन के माध्यम से आवेदन मागा था। उसमें कई लोगों का आवेदन मिला था, जिसमें से 100 लोगों के आवेदन की सरकार की ओर से स्वीकृति आई थी। ऐसे में अब उन लोगों को फ्लैट अलॉट किए जाने को लेकर स्क्रूटनी कमेटी की ओर से कार्रवाई की जा रही है। स्कीम के तहत जो बचे हुए 112 फ्लैट्स हैं और ऐसे में उक्त फ्लैट्स को आशियाना स्कीम के तहत अलॉट किया जाना है। जोकि एक रूम सेट है। ये फ्लैट्स इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1, सेक्टर-28, 20 व 21 में बने हुए हैं। स्कीम के तहत सेक्टर-21 के मद्रासी कॉलोनी का सर्वे हाल ही में एचएसवीपी की ओर से किया गया है। 9 साल पहले किया था आवेदन : एडीसी

एडीसी जगदीप ढाडा ने बताया कि आशियाना स्कीम के तहत सेक्टर-21 में मद्रासी कॉलोनी के पात्र जिन्होंने आवेदन 2009 में किया था, उन्हें फ्लैट अलॉट किए जाने के बाद एचएसवीपी की ओर से कॉलोनी की जगह को खाली करवाया जाएगा। खाली जगह पर एचएसवीपी की ओर से प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा, ताकि उससे रेवेन्यू बनाया जा सके। करीब दो एकड़ से ज्यादा जगह पर अवैध कब्जा है।

Posted By: Jagran