जेएनएन, चंडीगढ़। प्राकृतिक चिकित्सा (Naturopathy) द्वारा कब्ज (Constipation) से लेकर कैंसर (Cancer) तक लगभग सभी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है। प्राकृतिक चिकित्सा को अपनाकर हर व्यक्ति न केवल खुद को, बल्कि परिवार व समाज को स्वस्थ रखने में बड़ी भूमिका निभा सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर हरियाणा योग परिषद द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार में यह निष्कर्ष निकलकर आया। परिषद के फेसबुक पेज पर लाइव चले कार्यक्रम के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज तकनीकी कारणों से जुड़ नहीं पाए, लेकिन उन्होंने अपना संदेश देकर सभी को अपने जीवन में प्राकृतिक चिकित्सा को अपनाने का आह्वान किया।

योग परिषद हरियाणा के चेयरमैन डॉ. जयदीप आर्य। (फाइल फोटो)

वेबीनार के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि और हरियाणा योग परिषद के चेयरमैन डॉ. जयदीप आर्य ने कहा कि प्राकृतिक चिकित्सा को विकसित करने में भारतीय विशेषज्ञों के साथ ही अमेरिका, जर्मनी व इंग्लैंड के एलोपैथी के चिकित्सकों का अहम योगदान रहा है।            

कोयंबटूर से डॉ बीटीसी मूर्ति, पुणे से डॉ. जितेंद्र आर्य, योगग्राम हरिद्वार से डॉ. नागेंद्र नीरज, रुद्रपुर से डॉ. डीएन शर्मा, गोरखपुर से डॉ. विमल कुमार मोदी ने प्राकृतिक चिकित्सा की खूबियां गिनाईं। सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों से करीब ढाई लाख लोग कार्यक्रम से सीधे जुड़े।

डॉ. जयदीप आर्य ने कहा कि प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति पूरी तरह वैज्ञानिक है और सभी तरफ से निराश लोगों के जीवन मे भी आशा का संचार करती है। जटिल रोगों का भी इलाज इस पद्धति में है। समापन सत्र में इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन (International Naturopathy Organization) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अनंत बिरादर और प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मदन मानव ने कहा कि प्राकृतिक चिकित्सा से हर बीमारी का इलाज संभव है, इसलिए इस पद्धति का व्यापक स्तर पर प्रचार किया जाना चाहिए। हरियाणा के स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री अनिल विज ने इस आयोजन के लिए परिषद की सराहना की है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस