चंडीगढ़ [सुधीर तंवर]। ग्रुप-सी कर्मचारी से HCS (हरियाणा सिविल सर्विस) अफसर बनने की परीक्षा में शिक्षकों ने बाजी मारी है। पहली बार हुई लिखित परीक्षा में पूरे प्रदेश से चार हजार कर्मचारी शामिल हुए जिनमें 59 ने परीक्षा पास की। हरियाणा लोक सेवा आयोग (HPSC) द्वारा साक्षात्कार के लिए बुलाए गए कर्मचारियों में 44 शिक्षक हैं और इनमें भी 31 JBT (जूनियर बेसिक ट्रेंड)। दूसरे विभागों के सिर्फ 15 कर्मचारी ही पहली बाधा पार कर सके।

तृतीय श्रेणी कर्मचारी से HCS रजिस्टर-2 के पद पर नियुक्ति में भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद को रोकने के प्रदेश में पहली बार 31 जुलाई को पंचकूला में लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी। इससे पहले कर्मचारियों को इंटरव्यू के बाद सीधे HCS अफसर बना दिया जाता था। लिखित परीक्षा में 13 मास्टरों और 31 JBT के अलावा पुलिस महकमे से चार, परिवहन और लेखा विभाग से तीन-तीन, पशुपालन विभाग से दो तथा विकास एवं पंचायत, खाद्य एवं आपूर्ति तथा वन विभाग से सिर्फ एक-एक कर्मचारी मेरिट में जगह बना पाए हैं।

चयनित कर्मचारियों को साक्षात्कार के लिए दस्तावेजों के साथ 19 अगस्त को पंचकूला बुलाया गया है। खास बात यह कि HCS परीक्षा पास करने वाले JBT शिक्षकों में अधिकतर वर्ष 2011 बैैच के हैं जो पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की सरकार में लगे थे। तब शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर खूब सियासी घमासान मचा था। HCS रजिस्टर-2 की परीक्षा में जिस तरह हुड्डा सरकार में भर्ती हुए शिक्षकों ने बाजी मारी, उससे विरोधियों की बोलती बंद हो गई है।

वहीं, जिला अदालतों का कोई कर्मचारी HCS परीक्षा की मेरिट लिस्ट में जगह नहीं बना पाया। प्रदेश सरकार द्वारा अदालतों के कर्मचारियों को अपना मानने से इन्का्र के चलते 24 जुलाई को परीक्षा रद करनी पड़ी थी। बाद में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश पर सरकार ने आवेदन की समय सीमा बढ़ाते हुए जिला अदालतों के कर्मचारियों को परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया। इसके बावजूद अदालत का कोई कर्मचारी साक्षात्कार के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाया।

2800 JBT शिक्षकों के ऑनलाइन तबादले जल्द

JBT शिक्षकों के ऑनलाइन तबादलों पर विवाद के बाद रद की गई स्थानांतरण प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी। अगले सप्ताह तक करीब 2800 JBT को मनपसंद स्कूल आवंटित कर दिए जाएंगे। ऑनलाइन तबादलों में बैच सिस्टम के बजाय प्वाइंट को आधार बनाया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt