संवाद सहयोगी, पलवल : बारिश का मौसम गुजरते ही रसूलपुर रोड के निर्माण कार्य में तेजी आ गई है, परंतु अभी फाटक से पहले शहर में राजमार्ग तक के हिस्से में कार्य शुरू नहीं हुआ है। रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। निर्माण कार्य में तेजी आने से बैसलात के लोगों ने राहत की सांस ली है। विभाग भी निर्माण कार्य को जल्द पूरा करवाने का प्रयास कर रहा है।

बता दें कि पलवल से हसनपुर के लिए सबसे सीधा रास्ता वाया रसूलुपर होते हुए जाता है। रोड पर होशंगाबाद, छज्जूनगर, रसूलपुर, बड़ौली, कुशक, अच्छेजा, सुलतानपुर जैसे दर्जनों गांवों के अलावा दर्जनों अन्य गांवों के ¨लक रोड जुड़ते हैं। बैसलात के लिए तो यही नजदीक का रास्ता है। सड़क की हालत काफी जर्जर और संकरा होने के कारण अक्सर दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। लोगों को पहले तो जर्जर सड़कों से जूझना पड़ता है और फिर रेलवे फाटक पर घंटों खड़े रहना पड़ता है। दूसरी तरफ अलीगढ़ रोड पर भारी वाहनों के दबाव के कारण बहुत से बड़े वाहन रसूलपुर रोड से मीसा होते हुए अलीगढ़ रोड के लिए भी जाते हैं।

ग्रामीणों की मांग के चलते लोक निर्माण विभाग ने रोड के नवनिर्माण के लिए करीब 22 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर सरकार को मंजूरी के लिए भेजा था, जिसमें रेलवे ओवर ब्रिज के अलावा रोड को 18 फुट चौड़ा तथा शहर में फोर लेन बनाने का प्रस्ताव रखा गया था। प्रस्ताव को मंजूरी के बाद पिछले दिनों इसके निर्माण कार्य का शुभारंभ कर दिया गया था, लेकिन बारिश का मौसम होने के कारण कार्य धीमी गति से चल रहा था। अब उसमें तेजी आई है। रोड पर फाटक पार के हिस्से में चौड़ीकरण और गड्ढों को भरने का कार्य तेजी से चल रहा है। फाटक पर बनने वाले रेलवे ओवर ब्रिज के अपने हिस्से को बनाने के लिए भी विभाग तैयारियों में जुट गया है, जबकि रेलवे अभी अपने हिस्से की औपचारिकताएं कर रहा है।

---------

रोड का निर्माण समय पर पूरा हो, इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अलावा गुणवत्ता का भी ध्यान रखा जा रहा है। रेलवे को भी अपने हिस्से का पुल समय पर बनाने के लिए पत्र लिखा गया है।

-आरके ¨सगला, कार्यकारी अभियंता लोक निर्माण विभाग।

Posted By: Jagran