संवाद सहयोगी, होडल: गांव भुलवाना में पैर फिसलने से खेतों पर बने कुएं में गिरे एक किसान की जहरीली गैस में दम घुटने के कारण मौत हो गई। चाचा को बचाने के लिए उतरा भतीजा भी काल के ग्रास में समा गया। चाचा-भतीजे को निकालने के लिए कुएं में उतरे तीन अन्य युवक भी बेहोश हो गए, जिन्हें ग्रामीणों ने तुरंत बाहर निकालकर निकट के अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी हालत अब ठीक बताई जा रही है। पुलिस ने मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम कराने के बाद स्वजन को सौंप दिया है। मृतकों के परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है। पूरे गांव में खामोशी सी छाई है।

52 वर्षीय हरकिशन किसान थे। बीती रविवार देर शाम वह किसानी करते समय खेतों पर बने एक कुएं में गिर गए। इसी दौरान शोर सुनकर 25 वर्षीय उनका भतीजा सतपाल भी वहां पहुंच गया और अपने चाचा को बचाने के चक्कर में वह भी कुएं में कूद गया। आवाज सुनकर राजू, सुनील व धमेंद्र भी मौके पर पहुंच गए और उन्हें बचाने के लिए कुएं में उतरने लगे, लेकिन उन्हें कुएं में जहरीली गैस का एहसास होने लगा। उनका शोर सुनकर ग्रामीणों ने उन्हें बाहर निकाल लिया। इस घटना में तीनों युवक बेहोश हो गए। इसके बाद ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस, दमकल विभाग व नगर परिषद के कर्मियों की मदद से चाचा भतीजे को बाहर निकाला गया और तुरंत निकट के अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। गांव में एक ही परिवार के दो सदस्यों की मौत के बाद मातम पसरा हुआ है।

Edited By: Jagran