जागरण संवाददाता, पलवल: मंगलवार देर रात गदपुरी पुलिस चौकी के समीप गांव असावटी निवासी युवक बलजीत की संदेहास्पद हालात में मौत हो गई। मृतक व उसके तीन साथियों जो कि दो मोटरसाइकिलों पर सवार थे, को पुलिस ने रात्रि गश्त के दौरान कागजातों की जांच के लिए रोका था। दो युवक तो फरार हो गए, लेकिन दो युवकों बलजीत व रुपेश को पुलिस ने काबू कर लिया।

पुलिस के अनुसार चौकी पर लाए जाने के दौरान बलजीत पुलिस से छूटकर भाग गया तथा एक वाहन की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की पिटाई से उसकी मौत हुई है। पुलिस ने फरीदाबाद के बीके अस्पताल से शव का पोस्टमार्टम कराया। पलवल के एसडीएम जितेंद्र कुमार व डीएसपी अभिमन्यु लोहान भी बीके अस्पताल में मौजूद रहे। वहां भी परिजनों ने काफी देर तक हंगामा किया। देर शाम तक परिजनों ने शव को नहीं लिया तथा पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग करते रहे।

डीएसपी पलवल अभिमन्यु लोहान के अनुसार गदपुरी पुलिस चौकी के कर्मचारी मंगलवार की रात करीब एक बजे रात्रि गश्त पर थे। उसी दौरान उन्हें दो मोटरसाइकिलों पर चार युवक जाते मिले। दोनों मोटरसाइकिलों की नंबर प्लेटों पर मिट्टी लगी हुई थी, तथा ऐसा लग रहा था जैसे कि जानबूझकर नंबर प्लेट को छिपाया गया है। शक होने पर उन्हें रोका गया तो वे कोई कागजात पेश नहीं कर पाए। इसी बीच दो युवक जो कि ततारपुर निवासी लाला व फतेहपुर बिल्लोच निवासी राजेंद्र बताए गए हैं तो फरार हो गए तथा पुलिस ने बलजीत व रुपेश को काबू कर लिया। पुलिस के अनुसार बलजीत ने मौके से भागने का प्रयास किया तथा उसकी वाहन की चपेट में आने से मौत हो गई। पुलिस के अनुसार बलजीत व रुपेश के पास से आरी व ब्लेड भी बरामद किए गए। रुपेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। मैनें खुद घटनास्थल का निरीक्षण किया था। पुलिस द्वारा काबू किए जाने के बाद मृतक बलजीत ने एक ट्रक में लटकने का प्रयास भी किया था। सफल न होने पर वह सड़क पार करने के लिए भाग रहा था। संभवत: सामने से आ रहे वाहन पर उसकी नजर नहीं पड़ी, जिससे वह वाहन की चपेट में आ गया तथा उसकी मौत हो गई।

-वसीम अकरम, पुलिस अधीक्षक।

Posted By: Jagran