संवाद सहयोगी, पलवल: पिछले दो दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कड़ाके की ठंड और सर्द हवाओं ने लोगों को घरों में कैद होने को मजबूर कर दिया। सर्दी के कारण बाजार में भी वीरानी छाई रही। सर्दी से बचाव के लिए बाजारों में जगह-जगह अलाव का सहारा लिया जा रहा है।

सर्दी के कारण छोटे बच्चे और बुजुर्गों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्दी का पारा जैसे-जैसे चढ़ता जा रहा है वैसे ही गर्म कपड़ों की स्टालों पर भीड़ दिखाई देने लगी है। सर्दी का मौसम शुरू होते ही गर्म कपड़ों के साथ-साथ गजक, मूंगफली, रेवड़ी, तिल-गजक आदि की मांग भी बढ़ने लगी है।

सर्दी में सुबह स्कूल जाने के लिए बच्चों को परेशानी आ रही है। अस्पतालों में उल्टी, दस्त, निमोनिया के मरीजों की संख्या में इजाफा होने लगा है तो वहीं बुखार, जुखाम, खांसी, एलर्जी और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों से ग्रस्त बुजुर्ग अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। सर्दी के बढ़ते सितम के कारण सुबह के वक्त मंडी तक सब्जी पहुंचाने वाले किसान एवं वाहन चालकों को परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस