संवाद सहयोगी, पलवल: ओरियंटल बैक ऑफ कामर्स के ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान रतीपुर के निदेशक अजय कुमार अग्रवाल ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं में काम करने की शारीरिक क्षमता बहुत अधिक है, परंतु उन्हें रोजगार के पर्याप्त अवसर नहीं मिल पाते हैं। ऐसे में युवाओं को प्रशिक्षण लेकर स्वरोजगार अपनाना चाहिए।

अग्रवाल मंगलवार को गांव कोंडल में आयोजित जागरूकता शिविर को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री स्वरोजगार प्रशिक्षण योजनाओं के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रतिपुर में चल रहे संस्थान में बेरोजगार युवाओं के लिए विभिन्न प्रकार के 56 के कोर्स जो कि भारत सरकार से मान्यता प्राप्त है, बिना किसी शुल्क के कराए जा रहे है।

उन्होंने बताया कि संस्थान से कोर्स करने के बाद प्रदान किए जाने वाले प्रमाण पत्र से प्रशिक्षार्थी या तो किसी कंपनी में काम कर सकता है या फिर अपना खुद का काम शुरू कर सकता है। कार्यक्रम में समाजसेवी पवन पहलवान ने कहा कि वर्तमान में विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण कोर्स चल रहे हैं। युवा अपनी प्रतिभा के अनुसार उनका चयन करके स्वरोजगार द्वारा खुद सक्षम बन सकते हैं। इस मौके पर संस्थान से विरेंद्र ¨सह, ग्राम सचिव चरण ¨सह, पूर्व सरपंच शेर ¨सह, अशोक मास्टर, जयदेव पंडित मुख्य रूप से मौजूद थे।

Posted By: Jagran