जागरण संवाददाता, पलवल : हत्या, लूटपाट, रंगदारी व हत्या के प्रयास जैसे दर्जनों मामले में लिप्त गांव तुमसरा निवासी मोस्ट वांटेड अजय गुर्जर को बुधवार की मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी डॉ. मोहिनी की अदालत ने एक वर्ष कैद की सजा का ऐलान किया। आरोपी को यह सजा पीओ एक्ट के तहत सुनाई गई है। अजय गुर्जर को यह पहली सजा का ऐलान हुआ है, जबकि उसके खिलाफ रंगदारी मांगने, हत्या तथा हत्या का प्रयास सहित और भी कई मामले हैं जो कि अभी विभिन्न अदालतों में विचाराधीन हैं।

बता दें कि गांव तुमसरा निवासी अजय गुर्जर पर हरियाणा व राजस्थान पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया हुआ था तथा अदालत से भगोड़ा भी करार दिया हुआ था। वह दिल्ली, राजस्थान तथा हरियाणा पुलिस को लंबे समय से वांछित था। पलवल पुलिस ने लगभग सवा साल पहले उसके तुमसरा स्थित फार्म हाउस से उसे गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उसके पास से कार्बाइन, पिस्टल व अन्य दर्जनों हथियार व गाड़ियां भी बरामद की थी। पुलिस ने अजय की गिरफ्तारी के बाद दर्जनों हत्या, लूटपाट, रंगदारी, हत्या के प्रयास के मामलों का राजफाश किया था। राजस्थान पुलिस ने भी उसे प्रोडक्शन वारंट पर लिया था, जहां उसने पुलिस के समक्ष यूपी, हरियाणा व राजस्थान में आधा दर्जन हत्याओं की बात भी कबूली थी। राजस्थान पुलिस ने अजय गुर्जर को राजस्थान की सेवर जेल में भेज दिया था। बुधवार को उसे पीओ एक्ट का दोषी करार देते हुए एक साल की सजा का एलान किया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप