संवाद सहयोगी, फिरोजपुर झिरका: सोमवार की रात नूंह जिले में झमाझम बारिश हुई। करीब एक घंटे जमकर हुई बारिश से जहां लोगों को राहत पहुंची वहीं इससे पहले आई तेज आंधी ने लोगों की सांसों को फुला दिया। आंधी-तूफान के कारण कई जगह नुकसान की खबरें भी सामने आई हैं।

जानकारी के अनुसार इससे सबसे अधिक नुकसान बिजली वितरण निगम को पहुंचा है। यहां कई गांवों में इसके कारण बिजली आपूर्ति के पोल टूटकर जमीन पर आ गिरे। पोल गिरने से दर्जनों गांवों की बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

बता दें कि मानसून के महीने में अभी देरी है, लेकिन बावजूद इसके इलाके पर इन्द्रदेव पूरी तरह मेहरबान नजर आ रहा है। सोमवार को फिरोजपुर झिरका व इसके आसपास के इलाकों में इस मौसम की औसतन अच्छी बारिश देखने को मिली। यहां देर रात करीब 10 बजे जब अचानक काले बादलों का जमावड़ा शुरू हुआ तो लोगों को लगा कि गर्मी से राहत मिल जाएगी, लेकिन बारिश आने से पहले आई तेज आंधी ने समुचित इलाके को धूल धुआं की चादर से ढक दिया। करीब आधे घंटे चली आंधी के बाद जब बारिश शुरू हुई तो लोग खुश हो गए।

नूंह, तावडू, नगीना और फिरोजपुर झिरका में झमाझम बारिश के चलते ग्रामीण इलाकों सहित शहर के मुख्य चौक चौराहों व गलियों में पानी भर गया। इससे नालियां व बड़े नाले ओवरफ्लो होकर कीचड़ में तबदील हो गए। बहरहाल इसके कारण शहर की सूरत थोड़ी बिगड़ी नजर आई। मौसम विज्ञानियों के अनुसार फिरोजपुर झिरका और समीपवर्ती इलाकों में 24 एमएम बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग के अनुसार यहां और बेहतर बारिश की उम्मीद जताई गई है।

Edited By: Jagran