नूंह की बेटी पायल हंगरी में लहराएगी परचम

संवाद सहयोगी, तावडू : 22 से 24 अक्टूबर के बीच हंगरी के बुडापेस्ट में होने जा रही कैटलबेल स्पो‌र्ट्स व‌र्ल्ड चैंपियनशिप में तावडू की बेटी पायल कनोडिया अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाएगी। इस प्रतियोगिता में दुनिया भर के 32 देशों के 450 से अधिक खिलाड़ी भाग ले रहे हैं जिसमें भारत की तरफ से तावडू निवासी डा. पायल कनोडिया व गुरुग्राम की बेटी अंशु तारावथ भाग ले रही हैं।

विदित हो कि कैटलबेल खेल का देश में कैटलबेल सपोर्ट इंडिया एसोसिएशन राष्ट्रीय स्तर पर भी आयोजन करा चुका है। नया खेल होने के कारण यह भी अपनी पहचान बना रहा है। टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व करने पर डा. पायल कनोडिया व अंशु तारावथ से देश के लोगों को काफी उम्मीदें हैं।

टूर्नामेंट में देश का प्रतिनिधित्व करने पर डा. पायल कनोडिया ने बताया कि आईयूकेएल कैटलबेल व‌र्ल्ड चैंपियनशिप बुडापेस्ट में भारत की तरफ से प्रतिनिधित्व करना उनके लिए गौरवमय क्षण है। इसके लिए वह पिछले काफी समय से तैयारियों में जुटी हुई है उनका विश्वास है कि देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतर वह देश का नाम रोशन करेंगी।

मेवात जिले के लिए गर्व की बात : डा. पायल कनोडिया जिले के गांव तावडू निवासी एम3एम के संस्थापक बसंत बंसल की पुत्री हैं, जो गुरुग्राम में एम3एम फाउंडेशन का संचालन करती हैं। पायल कोरोना काल में पिछले लंबे समय से टीकाकरण जागरूकता अभियान को लेकर भी मुहिम चलाए हुए हैं। उनके इस चयन पर विधायक कुंवर संजय सिंह, उनके ताऊ मुसद्दीलाल बंसल, हैफेड चेयरमैन राजेश सहरावत उर्फ रज्जू, आनंद अग्रवाल आदि ने प्रशंसा जाहिर कर उन्हें शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि मेवात जैसे पिछले क्षेत्र से बेटियों का निकल कर आगे बढ़ना पूरे जिले के लिए गर्व की बात है।

Edited By: Jagran