जागरण संवाददाता, नूंह : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जलभराव वाले क्षेत्रों में से पानी की निकासी जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए हैं ताकि किसान समय से अगली फसल की बिजाई कर सकें।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम बृहस्पतिवार को समीक्षा बैठक में सभी जिले के उपायुक्त को यह कार्य तय समय सीमा में पूरा करने के लिए कहा है। इसके साथ-साथ मुख्यमंत्री ने खाद की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करवाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल निकासी के लिए आवश्यकता हो तो और पंपों की व्यवस्था करें ताकि समय से खेतों में से पानी निकाला जा सके। जल निकासी के बाद पानी ड्रेन में डालने की बजाए रिचार्ज के लिए इस्तेमाल किया जाए, इससे जलस्तर में भी सुधार होगा। साथ ही उन्होंने पराली जलाने की घटनाओं की फिजिकल वेरिफिकेशन करके प्रतिदिन रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए।

कुछ क्षेत्रों में किसानों को आ रही दिक्कतों को देखते हुए मेरी फसल-मेरा ब्योरा पोर्टल को खोला गया है। इस पोर्टल पर किसान 17 अक्टूबर तक रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने भावांतर भरपाई की राशि जल्द से जल्द किसानों के खातों में जमा करने के निर्देश दिए। उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़कों की मरम्मत व पानी निकासी के कार्य को निर्देश दिए हैं। सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र का दौरा करेंगे। इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त सुभिता ढाका, एसडीएम नूंह सलोनी शर्मा, एसडीएम पुन्हाना मनीषा शर्मा, एसडीएम फिरोजपुर-झिरका रणवीर सिंह, नगराधीश जयप्रकाश, जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार, डीडीए प्रताप सिंह आदि थे।

Edited By: Jagran