संवाद सहयोगी, नगीना: जिला नागरिक अस्पताल मांडीखेड़ा की शान-ए-शौकत, किसी होटल से कम नहीं है, देखने में यह अस्पताल पर्यटकों का मन मोह लेता है। मगर यहां पर आने वाले मरीजों को सुविधाएं पूरी तरह से नदारद है। यहां पर किसी भी मुख्य रोग के चिकित्सकों का अभाव है। दूसरी ओर मरीजों को विभिन्न बीमारियों की जांच के लिए उपकरण भी नहीं है। सप्ताह से भर्ती मरीजों को यहां पर डाक्टर दो-दो दिन तक नहीं देखते हैं। देखरेख करने के लिए जब स्टाफ नर्सों से कहा जाता है, तो वो भी अनसुना कर देती हैं। कु़छ मरीजों ने बताया कि एक बार मरीज को ग्लूकोज (बोतल) लगाने के बाद डॉक्टर मुड़कर नहीं देखते है। बार-बार बुलाने के बाद भी डॉक्टरों व स्टाफ नर्सों के नहीं आने की बात मरीज बता रहे हैं। क्या कहते हैं मरीज-

अस्पताल में भर्ती जमशीदा निवासी कामा राजस्थान, जन्नती सिगार, रामपाली निवासी रीगड़ जो कि दोनों ही मरीज अपने पेट दर्द से पीड़ित हैं। उन्हें यहां पर करीब एक सप्ताह हो चुका है। रामपाली के पेट दर्द की पीड़ा को डॉक्टर कम नहीं कर पाए हैं। रामपाली के पुत्र ने बताया कि पिछले तीन दिन से कोई भी डॉक्टर उन्हें देखने के लिए नहीं आया है। यही हालात जमशीदा व जन्नती ने बताया है।

घंटों लाइन में लगे रहे मरीज :

माफिया राजोली, अरफीना पथराली, जैबुना ख्वाजलीकलां, शेर मोहम्मद अगोन, जमीला अगोन, रजाक पथराली, सरफुद्वीन, उमराव राजाका सहित दर्जनों लोग लंबी लाइन में करीब दो घंटे तक लगे रहे, लेकिन उनका नंबर डॉक्टर तक पहुंचने का नहीं आया। अस्पताल में खांसी, जुकाम, बुखार, पेट दर्द जैसी अन्य बीमारियों के मरीज ज्यादा देखने को मिले।

अस्पताल में डॉक्टरों का अभाव

जिला अस्पताल में आज भी कई बीमारियों के विशेषज्ञ नहीं हैं। इसके अलावा एक रोग के कम से कम दो डॉक्टर होने चाहिए। मगर एक रोग के दो डॉक्टर तो दूर यहां पर कुछ रोग ऐसे भी हैं जिनका एक भी डॉक्टर नहीं है। इसलिए जिला अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग और प्रदेश सरकार को डॉक्टरों की व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए। --------

मरीजों की हर संभव मदद करने के लिए हम हर समय तैयार रहते हैं। मरीजों की छोटी से छोटी बात को भी हम नजरअंदाज नहीं करते हैं। जब भी जरूरत होती है डॉक्टर मरीजों के पास जरूर पहुंचते हैं। यदि फिर भी मरीजों को परेशानी हो रही है तो मरीजों की इस परेशानी को भी दूर किया जाएगा।

-डॉ. लोकवीर सिंह, उप सिविल सर्जन नूंह।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप